बांदा: यूपी में बांदा जिले की तिंदवारी सीट से भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति पर जिले के खनिज अधिकारी ने कथित तौर पर रंगदारी ना दिलाने पर मारपीट करने का आरोप लगाया है. जिलाधिकारी हीरालाल ने बुधवार को बताया कि खनिज अधिकारी शैलेन्द्र सिंह मंगलवार की रात उनके सरकारी आवास पर आए और भाजपा के तिंदवारी विधायक पर प्रति बालू खदान प्रति माह 25 लाख रुपए रंगदारी दिलाने की बात अस्वीकार करने पर मारपीट करने का आरोप लगाया. Also Read - 22 साल के लड़के ने जीभ काटकर देवी को चढ़ाई, जिसने सुना हैरान रह गया...

जिलाधिकारी कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. इस बीच, खनिज अधिकारी शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि मंगलवार की रात करीब आठ बजे तिंदवारी विधायक बृजेश प्रजापति ने उन्हें और उनके एक अन्य सहकर्मी को जरूरी बात करने के लिए मवई सर्किट हाउस बुलाया और हर बालू खदान से प्रति माह 25 लाख रुपए दिलाने का दबाव डाला.

खनिज अधिकारी सिंह के मुताबिक विधायक की मांग अस्वीकार करने पर पहले विधायक और उनके दो सरकारी सुरक्षाकर्मियों ने उनके साथ मारपीट की. बाद में विधायक के निजी सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें कमरे में बंद कर बुरी तरह से पीटा.

उधर, बीजेपी विधायक बृजेश प्रजापति ने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि अवैध खनन की शिकायत पर खनिज अधिकारी शैलेन्द्र सिंह को सर्किट हाउस में जरूर बुलाया गया था, लेकिन रंगदारी मांगने या मारपीट करने के आरोप बेबुनियाद है.

विधायक बृजेश प्रजापति ने खनिज अधिकारी पर उल्टे आरोप लगाते हुए कहा कि वह कुछ बालू माफियाओं के साथ मिलकर जिले में अवैध खनन करा रहे हैं.

तिंदवारी के विधायक प्रजापति पहले भी चर्चा में रह चुके हैं. करीब तीन माह पूर्व अपने मन मुताबिक थानाध्यक्षों की तैनाती ना करने पर उन्होंने तत्कालीन पुलिस अधीक्षक शालिनी के खिलाफ अपने फेसबुक अकाउंट में एक पोस्ट डाल कर उन पर अपनी हत्या कराने की साजिश करने का आरोप लगाया था.