मथुरा: मथुरा जिले के मंत क्षेत्र में दो नाबालिगों की कुछ लोगों ने रस्सी से बांधकर पिटाई कर दी. आरोप है कि बच्चों ने धार्मिक समारोह में प्रसाद लेने के लिए दोबारा लाईन में लग गए, जिससे नाराज लोगों ने उनकी पिटाई कर दी. पिटाई करने वालों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसकी जानकारी पुलिस ने सोमवार को दी. Also Read - वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर से भगवान कृष्ण की एक मूर्ति गायब, पता लगाने वाले को दिल्ली की इंजीनियर देगी ये इनाम

रविवार को सोशल मीडिया पर एक क्लिप वायरल हो रहा था, जिसके बाद यह मामला संज्ञान में आया. क्लिप में महज 10-12 साल के बच्चों की रस्सी से बांधकर पिटाई हो रही है, दोनो काफी चिखते, चिल्लाते हैं, लेकिन कोई भी मदद के लिए आगे नहीं बढ़ रहा है. बताया जा रहा है कि यह मामला 24 जुलाई (शुक्रवार) की है. हालांकि, मामले में दोषियों को गिरफतार कर लिया गया है. Also Read - Farmers Protest: अखिलेश यादव और जयंत चौधरी 19 मार्च को मथुरा में करेंगे किसान महापंचायत

जिला बाल अधिकार संस्था ने इस घटना के बारे में यूपी राज्य बाल संरक्षण आयोग और जिला बाल कल्याण समिति को सूचित किया है. मथुरा में चाइल्डलाइन के जिला समन्वयक नरेंद्र परिहार ने कहा, “पीड़ितों में से एक उसी गांव का है, जबकि दूसरा एक प्रवासी मजदूर का बच्चा है, जो अभी संपर्क के बाहर है.” Also Read - श्रीकृष्ण जन्मभूमि के 13.37 एकड़ जमीन मामले में अमीन आयोग की मांग, 19 फरवरी को आएगा फैसला

नाबालिगों में से एक द्वारा दिए गए बयान के अनुसार, “उसका एकमात्र अपराध यह था कि वह ‘प्रसाद’ लेने के लिए दोबारा लाइन में लगा, जिससे कुछ स्थानीय नाराज हो गए.” अभियुक्त पवन कुमार और सुशील कुमार पर धारा 342, धारा 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 504 (शांति भंग करना) और धारा 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मंत पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है. मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने कहा कि मामले की जांच चल रही है.