मुरादाबाद: चोरी, डकैती के बाद शायद ही कोई चोर बताने आता हो कि उसने कितना और क्या-क्या चुराया. यूपी के मुरादाबाद में एक चोर ने ताना देते हुए जिस तरह से चोरी का माल वापस कर हिसाब दिया, उससे पुलिस भी असमंजस में पड़ गई है. दरअसल, एक पीतल कारोबारी के यहां बड़ी चोरी हुई. पीतल कारोबारी ने इसके बाद दावा दिया कि चोर ज्वेलरी सहित 40 लाख का माल ले गए. 40 लाख का हिसाब देने के लिए चोर ने ज़बरदस्त तरीका निकाला. चोर एक मस्जिद पहुंचा. यहां उसने एसएसपी के नाम पत्र छोड़ एक पोटली भी छोड़ी. पत्र में लिखा था कि चोरी के बाद गृह स्वामी लाखों की चोरी का दावा करने लगते हैं. जबकि अधिकतर बार ऐसा नहीं होता है. जिस पीतल कारोबारी के यहां उसने चोरी की है, वहां उसके हाथ कुछ नहीं लगा. जिस ज्वेलरी को कीमती समझ कर चुराया वह तो नकली निकली. ऐसे में ये चोरी 40 लाख की कैसे हो गई. चोर ने इस पत्र के साथ ही ज्वेलरी भी रख दी, जो चुराई गई थी.

छेड़छाड़ की शिकायत करने थाने जा रही महिला को आरोपियों ने जलाया, हालत गंभीर

चोर ने ऐसे दिया ताना
मुरादाबाद के किसरौल में रहने वाले पीतल कारोबारी हाजी यासीन के घर चोरी से हड़कंप मच गया था. हाजी यासीन ने दावा किया था कि उनके यहां चोरों ने 40 लाख पर हाथ साफ किया है. पुलिस तो इसका खुलासा नहीं कर सकी, लेकिन चोर ने पीतल कारोबारी के दावे का ही खुलासा कर दिया. चोर ने मुरादाबाद थाने के सामने स्थित मस्जिद आया. यहां उसने एक पत्र और पोटली रख दी. ये पत्र और पोटली मस्जिद में रहने वाले मौलाना को मिला. उन्होंने इसे पुलिस को सौंप दिया. मुरादाबाद के पुलिस कप्तान के नाम छोड़े गए इस पत्र में लिखा था कि ‘पीतल कारोबारी कभी एक-एक पैसे को मोहताज रहते थे. कोई बीमार होता था तो दो-दो हजार रुपए मांगते थे. घर पर हुई चोरी को 40 लाख की चोरी बता रहे हैं, जबकि उनके घर से चुराई गई ज्वेलरी पूरी तरह से नकली है, जो यहां छोड़कर जा रहा हूं.’

बरेली में मना प्रियंका-निक की शादी का जश्न, लोगों ने सजाया पुश्तैनी घर, गरीब बच्चों को दी चाट पार्टी

पीतल कारोबारी के घर की ही निकली ज्वेलरी
पुलिस ने तुरंत ही पीतल कारोबारी को बुलवाया और ज्वेलरी की पहचान कराई. ज्वेलरी उनके घर की ही निकली. पीतल कारोबारी के 40 लाख की चोरी के दावे की हवा निकल गई. फिर भी पुलिस ने पीतल कारोबारी से जानकारी लेने के बाद ऐसे रिश्तेदारों को पकड़ा, जिनसे कारोबारी ने कभी दवाई के लिए रुपए मांगे थे. इसके बाद भी पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा. अब पुलिस भी असमंजस में है. पुलिस का कहना है कि चोरी को अंजाम देने वाला और पत्र छोड़ने वाला कोई बेहद करीबी है, जिसे सब कुछ पता है. पीतल कारोबारी के यहां ये चोरी 23 नवंबर को हुई थी. घर में उस दिन सिर्फ महिलाएं ही थीं. चोरों ने घर में घुस इन सब को बंधक बनाते हुए करीब एक घंटे तक धमा चौकड़ी मचाई थी. अब बदमाशों ने पत्र लिखा पुलिस को ही असमंजस में डाल दिया है.