लखनऊ: अयोध्या में मस्जिद के निर्माण की हलचल बढ़ गई है. इसके लिए उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड बैठक करके जल्द ट्रस्ट का गठन करेगा. सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जुफर फारूकी ने बताया कि अगले 15 दिनों के अन्दर रौनाही में मिली जमीन पर मस्जिद निर्माण को लेकर काम शुरू कर दिया जाएगा. Also Read - 'अपनी रसीद दिखाओ और राम मंदिर को दिया चंदा वापस लो', भाजपा सांसद साक्षी महाराज बोले

इसके लिए सबसे पहले एक ट्रस्ट का ऐलान होगा यह ट्रस्ट रौनाही में बनने वाली मस्जिद, इस्लामिक एजुकेशनल संस्था और लाइब्रेरी का निर्माण कराएगी. निर्माण संबंधी पूरी जिम्मेदारी इसी ट्रस्ट की होगी. Also Read - राज्यसभा सांसद Sanjay Singh के आवास पर 'हमला', AAP नेता ने BJP पर लगाया हमले का आरोप

उन्होंने बताया कि सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड लखनऊ में बैठक करने के बाद ट्रस्ट का औपचारिक गठन करेगा. ट्रस्ट यह बैठक वीडियो कन्फ्रेंसिंग से करेगा. सभी सदस्य इसमें वीसी के माध्यम से शामिल होंगे. माना जा रहा है कि बोर्ड की इस बैठक में 15 मेम्बर शमिल होंगे. इस बैठक में ट्रस्ट का गठन होगा और इसके गठन के बाद निर्माण की रूपरेखा तय होगी. इसमें इस्लामिक एजुकेशनल संस्थान के साथ ही साथ लाइब्रेरी का भी निर्माण होगा. Also Read - Shri Ram Janmabhoomi Trust में भ्रष्‍टाचार? चंपत राय का जवाब- आरोप भ्रामक और राजनीतिक घृणा से प्रेरित

गौरतलब हो कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर का निर्माण होने जा रहा है. वहीं कोर्ट के आदेश के अनुसार सरकार ने सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को मस्जिद निर्माण के लिए पांच एकड़ जमीन आवंटित कर दी. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुरूप शासन की ओर से सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को अयोध्या जनपद की परिधि में स्थित धन्नीपुर ग्राम सभा में 5 एकड़ जमीन मस्जिद निर्माण के लिए दी गई है.