लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुगलसराय से बीजेपी विधायक साधना सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर बेहद विवादित बयान दिया है. साधना सिंह ने एक सभा में मायावती को ‘किन्नर से भी बदतर’ बता दिया . मायावती को लेकर दिया गया विवादित बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वहीं, बसपा के सतीशचंद्र मिश्रा ने बयान की निंदा की है. उन्होंने कहा कि सपा-बसपा के गठबंधन से मानसिक हालत ठीक नहीं है. इन्हें बरेली या आगरा के मानसिक अस्पताल में भर्ती कराना चाहिए.


एक सभा के दौरान साधना सिंह ने कहा कि यूपी की पूर्व सीएम महिला नहीं लगती, और न ही जेंट्स में लगती हैं. इनको तो अपना सम्मान समझ में नहीं आता है. जिस महिला का इतना बड़ा चीरहरण हुआ, सब कुछ लुट गया, उसके बाद भी कुर्सी की खातिर अपना सारा सम्मान बेच दिया. ऐसी महिला मायावती का हम इस कार्यक्रम के माध्यम से तिरस्कार करते हैं. बीजेपी विधायक यहीं नहीं रुकीं. उन्होंने इससे भी दो कदम आगे बढ़ते हुए कहा कि ‘जिस दिन महिला का ब्लाउज, पेटीकोट, साड़ी फट जाए, वो महिला न सत्ता के लिए आगे आती है. उसको पूरे देश की महिला कलंकित मानती है. वो तो किन्नर से भी ज्यादा बदतर है क्योंकि वो तो न नर है न महिला है.


बीजेपी विधायक जब ये विवादित बयान दे रही थीं, उस समय किसानों को लेकर हुई सभा में काफी लोग मौजूद थे. गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे व बीजेपी नेता पंकज सिंह भी मंच पर मौजूद थे. बीजेपी विधायक के इस तरह से बयान से खलबली मच गई है. बयान की आलोचना की जा रही है. बसपा ने इस बयान की निंदा की है. बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि ‘मायावती को लेकर इस्तेमाल किए गए शब्दों से बीजेपी का स्तर दिखता है.’ उन्होंने कहा कि जब से बसपा का सपा के साथ गठबंधन हुआ है तब से ही भाजपा के नेताओं ने मानसिक संतुलन खो दिया है. ऐसे लोगों को आगरा या बरेली के मानसिक अस्पताल में भर्ती कराना चाहिए.