लखनऊ: देश के मशहूर शायर मुनव्‍वर राणा ने भारतीय रेलवे की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है. दरअसल मुनव्‍वरण राणा बुजुर्ग और बीमार होने के बाद भी लोअर बर्थ नहीं दिए जाने से नाराज हैं. वे 22 अप्रैल को गाड़ी संख्‍या 22419 से दिल्‍ली जा रहे थे, उनके साथ दो लोग थे. बावजूद इसके उनको अपर बर्थ अलाट कर दी गई. इसको लेकर उन्‍होंने नाराजगी जताते हुए ट्वीट किया. जिसमें उन्‍होंने सवाल किया कि क्‍या रेलवे में बीमार और बुजुर्ग को ऐसी ही सुविधाएं मिलती हैं.

 

बता दें कि मशहूर शायर मुनव्‍वर राणा की तबीयत इन तीनों ठीक नहीं है. ऐसे में रविवार को देर रात ट्रेन से दिल्‍ली जाने वाले थे. सेकेंड क्‍लास में उनका रिजर्वेशन था, लेकिन मुनव्‍वर राणा को अपर बर्थ अलॉट हुई, जबकि उनके साथ दूसरे बुजुर्ग को भी अपर बर्थ ही अलॉट कर दी गई. इस पर बात गुस्‍साए मुनव्‍वर राणा ने ट्वीट किया. जिसमें उन्‍होंने कहा कि वे एम्‍स दिल्‍ली में एडमिट होने के लिए जा रहे हैं. तीन लोगों में दो लोग सिनियर सिटीजन्‍स हैं. इसके बावजूद रेलवे की ओर से उन्‍हें अपर बर्थ अलॉट कर दी गई है. क्‍या भारतीय रेल वरिष्‍ठ नागरिकों को यही सुविधाएं मिलती हैं. हालांकि उनके ट्वीट के जवाब में रेलवे ने कुछ स्‍पष्‍टीकरण नहीं दिया है. दरअसल गुनव्‍वर राणा को अपने घुटने के प्रत्‍यारोपण के लिए एम्‍स दिल्‍ली में भर्ती होना था. हालांकि वे किसी तरह दिल्‍ली पहुंच गए हैं और अभी वे एम्‍स में ही भर्ती हैं.

सीने में दर्द की शिकायत के बाद मुनव्वर राना अस्पताल में भर्ती, प्रशंसकों ने मांगी सलामती की दुआ