कानपुर (उप्र). पीएम नरेंद्र मोदी के राज्यसभा में झारखंड में हुई मॉब-लिंचिंग की निंदा करने के बावजूद ऐसी घटनाएं थम नहीं रही हैं. ऐसे में जबकि राजस्थान में पिछले साल हुए मॉब-लिंचिंग में पहलू खान के ऊपर चार्जशीट दाखिल किए जाने का मामला गर्माया हुआ है, उत्तर प्रदेश के कानपुर में ऐसी ही एक घटना सामने आई है. कानपुर में कुछ लोगों ने एक मुस्लिम किशोर के साथ जमकर मारपीट की है. कानपुर के बर्रा इलाके में एक मुस्लिम किशोर की कुछ लोगों ने बुरी तरह से पीट दिया. किशोर का आरोप है कि टोपी पहन रखी थी और लोग उससे जय श्री राम का नारा लगाने को कह रहे थे. बर्रा का रहने वाल ताज (16) शुक्रवार को किदवई नगर स्थित मस्जिद से नमाज पढ़ कर घर लौट रहा था, तभी तीन चार अज्ञात बाइक सवार लोगों ने उसे रोक लिया और उसके टोपी पहने होने पर विरोध किया. Also Read - Jammu & Kashmir के मुद्दे पर पीएम मोदी के साथ सर्वदलीय मीटिंग आज, देश-दुनिया की निगाहें टिकीं

बर्रा पुलिस चौकी प्रभारी सतीश कुमार सिंह के अनुसार बाइक सवार युवकों ने ताज को ‘जय श्री राम’ कहने को कहा. जब उसने कहने से इनकार किया कि तो उसकी पिटाई कर दी. चौकी प्रभारी ने बताया, ‘इसके बारे में हमें लिखित शिकायत मिली है और मामले की एफआईआर दर्ज कर ली गई है. ताज का मेडिकल परीक्षण भी कराया गया है. आरोपियों की पहचान कर उनकी तलाश की जा रही है.’’ ताज ने आरोप लगाया कि उसे मारने वालों ने धमकी दी है कि इस इलाके में सिर पर टोपी पहनकर न आना. उसने आरोप लगाया कि उन्होंने टोपी उतार दी और उससे जय श्री राम कहने को कहा. Also Read - MSME Loan In UP: 31,542 एमएसएमई इकाइयों को उत्तर प्रदेश सरकार ने दिया 2,505.58 करोड़ का लोन

ताज ने बताया कि मार-पीट पर वह जब चिल्लाया तो राहगीरों ने उसे बचाया. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिले में तबरेज अंसारी नाम के एक युवक को स्थानीय लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला था. स्थानीय लोगों का आरोप था कि तबरेज उनके इलाके में चोरी करने आया था. चोरी के आरोप में ही लोगों ने तबरेज को 18 घंटे तक बंधक बनाकर उसके साथ मारपीट की. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार लगातार पिटाई की वजह से तबरेज गंभीर रूप से जख्मी हो गया था. पुलिस ने उसे बाद में अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. Also Read - कोरोना वायरस: PM मोदी ने कहा- राज्यों को अतिरिक्त कर्ज लेने की अनुमति देंगे, हमने ज़रूरत के हिसाब के आर्थिक उपाय किए

(इनपुट – एजेंसी)