नई दिल्ली: आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने नवजोत सिंह सिद्धू, आमिर खान और नसीरुद्दीन शाह की तुलना राजा जयचंद और बंगाल के नवाब मीर जाफर से करते हुए कहा कि ये लोग ‘देशद्रोही’ हैं. अलीगढ़ में सोमवार को एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा, भारत को अजमल कसाब जैसे मुस्लिम युवाओं की जरूरत नहीं हैं. आतंकी अजमल कसाब 26/11 मुंबई आतंकी हमले के दौरान पकड़ा गया था और उसको बाद में फांसी दे दी गई थी.Also Read - Road Rage Case में एक साल की सजा सुनाए जाने के बाद जानें क्या बोले नवजोत सिंह सिद्धू?

इंद्रेश कुमार ने कहा, ‘भारत को कसाब, याकूब और इशरत जहां जैसे मुस्लिम युवाओं की जरूरत नहीं हैं, देश को ऐसे युवाओं की जरूरत है जो एपीजे अब्‍दुल कलाम के बताए रास्‍ते पर चलें. जो कसाब की राह पर चलेंगे, उनको ‘देशद्रोही’ ही माना जाएगा. उन्‍होंने कहा कि ये अच्‍छे एक्‍टर (नवजोत सिंह सिद्धू, नसीरुद्दीन शाह और आमिर खान) हो सकते हैं लेकिन ये सम्‍मान के लायक नहीं हैं क्‍योंकि ये देशद्रोही हैं. ये लोग मीर जाफर और जयचंद की तरह हैं. Also Read - रोडरेज मामले में सुप्रीम कोर्ट से Navjot Sidhu को एक साल की सजा, जानिये 34 साल पहले उस शाम आखिर क्या हुआ था!

इंद्रेश कुमार ने यह कहा कि कांग्रेस, वाम दल, सांप्रदायिक धार्मिक ताकतें और कुछ जज अयोध्‍या केस की सुनवाई में देरी के लिए जिम्‍मेदार हैं. उन्‍होंने कहा, ‘राम मंदिर निर्माण में देरी की पहली वजह कांग्रेस, दूसरी लेफ्ट पार्टीज, तीसरी सांप्रदायिक धार्मिक ताकतें और चौथी कुछ जज हैं, जिनके कारण न्‍याय मिलने में देरी हो रही है. मैं साधु-संतों से अपील करता हूं कि वे कांग्रेस, लेफ्ट पार्टीज के ऑफिस के बाहर और जजों के घर के बाहर धरना दें. बता दें कि पहले 29 जनवरी को अयोध्या मामले की सुनवाई होने वाली थी लेकिन एक जज की गैरमौजूदगी की वजह से सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई टाल दी. Also Read - जेल जाएंगे Navjot Singh Sidhu, SC ने दी 1 साल की सजा | Watch video