नई दिल्ली: बसपा प्रमुख मायावती की तुलना किन्नर से करने संबंधी बयान की निंदा करते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने सोमवार को भाजपा विधायक साधना सिंह को नोटिस जारी कहा कि वह अपनी इस अनैतिक, अपमानजनक और गैरजिम्मेदाराना टिप्पणी पर संतोषजनक स्पष्टीकरण दें. आयोग ने साधना सिंह के बयान से जुड़ी खबरों का हवाला देते हुए कहा कि यह टिप्पणी ‘बेहद आक्रामक, अनैतिक है तथा यह महिलाओं की गरिमा और सम्मान का अनादर करती है.’ Also Read - Madhya Pradesh: 'Tandav' के खिलाफ दो शहरों में FIR, बीजेपी नेता ने उद्धव ठाकरे को भेजा पत्र

Also Read - रेप के आरोपों का सामना कर रहे Dhananjay Munde के खिलाफ कार्रवाई को लेकर NCP प्रमुख शरद पवार ने कही यह बात..

मायावती को लेकर टिप्पणी करने पर बीजेपी MLA साधना सिंह के खिलाफ FIR, अब जताया खेद Also Read - Rajasthan Latest News: सचिन पायलट समर्थक MLA गजेंद्र सिंह शक्तावत का निधन, CM गहलोत ने जताया शोक

राष्ट्रीय महिला आयोग ने कहा, ”आयोग जिम्मेदार पद पर बैठे लोगों की ओर से दिए जाने इस तरह के गैरजिम्मेदाराना बयान की निंदा करता है.महिला आयोग ने कहा कि भाजपा विधायक नोटिस मिलने के बाद अपने बयान के संदर्भ में आयोग को संतोषजनक स्पष्टीकरण दें.

बीजेपी विधायक ने मायावती पर दिए विवादित बयान को लेकर अब लिखित में ऐसे जताया खेद

बता दें कि उत्तर प्रदेश में मुगलसराय क्षेत्र से बीजेपी विधायक साधना सिंह ने चंदौली जिले के करणपुरा गांव में बीते शनिवार को आयोजित किसान कुंभ कार्यक्रम में मायावती को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी.

बीजेपी की विधायक ने मायावती के खिलाफ अमर्यादित और अवांछनीय टिप्पणी की है: अठावले

विधाय ने बसपा प्रमुख का जिक्र करते हुए कहा, “हमको तो उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ना तो महिला लगती हैं और ना ही पुरुष. इनको तो अपना सम्मान ही समझ में नहीं आता. जिस महिला का इतना बड़ा चीरहरण हुआ लेकिन कुर्सी पाने के लिए उसने अपने सारे सम्मान को बेच दिया. ऐसी महिला मायावती का हम इस कार्यक्रम के माध्यम से तिरस्कार करते हैं.”

VIDEO: बीजेपी MLA साधना सिंह ने मायावती को बताया किन्नर से भी बदतर, कहा- न महिला लगती हैं न पुरुष

साधना ने आरोप लगाया था, “वह महिला नारी जात पर कलंक हैं. जिस महिला की आबरू को भाजपा के नेताओं ने लुटते-लुटते बचाया उसी ने सुख-सुविधा के लिए अपमान को पी लिया. ऐसी महिला तो किन्नर से भी ज्यादा बदतर है. वह ना नर है, ना महिला है, उसकी किस श्रेणी में गिनती करनी है.” बयान पर विवाद बढ़ने और चौतरफा आलोचना के बाद साधना ने माफी मांग ली थी.

बीजेपी विधायक ने की मायावती पर अभद्र टिप्पणी, सपा-बसपा ने की कड़ी निंदा, महिला आयोग ने लिया संज्ञान