नई दिल्ली: न्यू फरक्का एक्सप्रेस हादसे के सिलसिले में रेलवे ने बृहस्पतिवार को दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया. वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि जांच में कोई बाधा नहीं आए इसलिये सिग्नल इंस्पेक्टर और इलेक्ट्रिकल सिग्नल मेंटेनर को निलंबित किया गया है. Also Read - 7 साल के निलंबन के बाद नेपाल में शुरू होंगी ट्रेनेें, यह पहली ब्रॉड-गेज यात्री रेलवे सर्विस होगी

Also Read - दिल्ली में झुग्गी बस्ती गिराने के खिलाफ उतरी 'आप', कहा- जब तक केजरीवाल ज़िन्दा, तब तक ऐसा नहीं होगा

  Also Read - राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी को मंजूरी: सरकारी नौकरी के लिए देश में अब एक एजेंसी-एक एग्ज़ाम, SSC, रेलवे, बैंक की परीक्षाएं भी इसी के तहत

न्यू फरक्का एक्सप्रेस रायबरेली के पास पटरी से उतरी, आतंकी साजिश की आशंका, 7 की मौत, कई घायल

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पहली नजर में दुर्घटना की वजह गलत सिग्नल देना है. रेलवे सुरक्षा आयोग के मुख्य आयुक्त की सिफारिश पर हमने दो लोगों को निलंबित कर दिया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि किसी साक्ष्य से छेड़छाड़ ना हो. उत्तर प्रदेश में रायबरेली के निकट बुधवार को न्यू फरक्का एक्सप्रेस का इंजन और कई डिब्बे पटरी से उतर गए थे. हादसे में सात लोगों की मौत हो गई थी जबकि कम से कम 30 लोग घायल हुए थे.

न्यू फरक्का एक्सप्रेस हादसा: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हादसे पर जताया दुःख

हादसे में सात लोगों की मौत

बता दें कि मालदा टाउन से नई दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस (14003) के इंजन और नौ डिब्बे बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश में रायबरेली के पास पटरी से उतर गए जिसमें कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब 35 यात्री घायल हो गए. यह दुर्घटना बुधवार सुबह करीब छह बजे रायबरेली के निकट हरचन्दपुर के बाबापुर के करीब हुई. राहत बचाव कार्यों की निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा था.