लखनऊ: मालदा टाउन से नई दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस (14003) के इंजन और नौ डिब्बे बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश में रायबरेली के पास पटरी से उतर गए जिसमें कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब 35 यात्री घायल हो गए. यह दुर्घटना बुधवार सुबह करीब छह बजे रायबरेली के निकट हरचन्दपुर के बाबापुर के करीब हुई. अधिकारियों ने बताया कि डिब्बों से यात्रियों को बाहर निकाला जा रहा है. हादसे में हताहत हुए लोगों की संख्या बढ़ने की आशंका है. प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये जबकि घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. Also Read - Indian Railways News: जल्द ही देश के सभी रेलवे स्टेशनों पर मिलेगी कुल्हड़ वाली चाय, रेल मंत्री पीयूष गोयल ने किया एलान

वहीं रेल मंत्री पीयुष गोयल ने मृतकों के परिजनों को लिए 5 लाख मुआवजे का एलान किया है. गंभीर रूप से घायलों को एक लाख और घायलों को 50 हजार रुपए मुआवजा मिलेगा. प्रदेश के सहायक महानिदेशक कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि दुर्घटना में किसी आतंकी साजिश के पहलू की जांच के लिये एटीएस की टीम भी मौके पर भेजी गयी है. हादसे के बाद उत्तर रेलवे ने हेल्पलाइन नंबरों की घोषणा की है. जनसंपर्क अधिकारी विक्रम सिंह के अनुसार वाराणसी हेल्पलाइन नंबर 0542 2503814, लखनऊ हेल्पलाइन नंबर 9794830975, 9794830973, प्रतापगढ़ हेल्पलाइन नंबर 05342 220492 और रायबरेली के लिए हेल्पलाइन नंबर 0535 2213154 है.

कुमार ने बताया कि बुधवार की सुबह करीब छह बजे हुई दुर्घटना में अभी तक 7 लोगों की मौत ही सूचना है. करीब 30-35 यात्री घायल हुए हैं. घायलों को आसपास के अस्पतालों में भर्जी कराया जा रहा है. उन्होंने बताया कि अभी भी कई यात्री डिब्बों में फंसे हुए हैं. उन्हें बाहर निकालने के लिए कटर आदि मंगवाए गए हैं. उन्हें सुरक्षित बाहर निकालने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि जिला पुलिस और प्रशासन तथा एनडीआरएफ की टीमें भी मौके पर मौजूद हैं.

रेलवे के सूत्रों के अनुसार, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी दुर्घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं. उत्तर रेलवे के डीआरएम सतीश कुमार के मुताबिक अधिकारियों की टीम घटनास्थल की ओर रवाना हो गयी है. मेडिकल टीमें भी भेजी गयी हैं. उन्होंने कहा कि मृतकों की संख्या बढ़ने की भी आशंका जताई. उत्तर रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी विक्रम सिंह के मुताबिक आज सुबह करीब छह बज कर दस मिनट पर हुई इस दुर्घटना के कारण 13 ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है.