नोएडा: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और यूपी एटीएस ने सात फरवरी को प्रदेश के मुजफ्फरनगर से हवाला के जरिए आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को कथित रूप से धन मुहैया कराने वाले दो व्यापारियों को गिरफ्तार किया है. ये गिरफ्तारियां बिहार के औरंगाबाद से पकड़े गए लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी शेख अब्दुल नईम के बयान के आधार पर हुर्ई हैं. Also Read - NIA के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, पश्चिम बंगाल से अलकायदा का एक और आतंकवादी गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) में पुलिस उपाधीक्षक अनूप सिंह ने बताया कि एनआईए और एटीएस ने एक संयुक्त कार्रवाई के तहत मुजफ्फरनगर जिले से दिनेश गर्ग और आदेश कुमार जैन नामक दो व्यापारियों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि दिनेश के पास से 15 लाख रूपये, दो देसी तमंचे, एक पिस्तौल, लैपटॉप, कई मोबाइल फोन और सामरिक महत्व के दस्तावेज बरामद हुए हैं, जबकि जैन के पास से 32 लाख 84 हजार रुपये, चीन में बनी पिस्तौल समेत कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज और विदेशी मुद्रा बरामद हुई हैं. Also Read - केरल, पश्चिम बंगाल से अरेस्‍ट अलकायदा आतंकियों का ये था प्‍लान, पाक हैंडलर से मिल रहे थे आदेश

उन्होंने बताया कि एनआईए ने लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित कुछ आतंकवादियों को पहले गिरफ्तार किया था, जिनमें शेख अब्दुल नईम, धनु राजा, तौसीफ अहमद, महफूज आलम और अब्दुल समद शामिल हैं. इन लोगों से पूछताछ के आधार पर पता चला कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जौहरी लश्कर-ए-तैयबा को हवाला के जरिए आर्थिक सहायता दे रहे हैं. Also Read - मुजफ्फरनगर में नाबालिग लड़की का अपहरण के बाद बलात्कार

पुलिस उपाधीक्षक ने बताया कि इस मामले में जांच चल रही है। कुछ और लोगों की गिरफ्तारियां हो सकती हैं.