UP, Noida, Ambulance, Corona, Coronavirus, Covid-19, News,  नोएडा: यूपी के नोएडा में कोविड-19 मरीजों से मनमाना किराया वसूले जाने की खबरों के बाद नोएडा प्रशासन ने दूरी के हिसाब से एम्‍बुलेंस का किराया निर्धारित कर दिया है. अगर कोई एंबुलेंस चालक संक्रमित मरीज या उनके परिजनों से निर्धारित किराया से ज्यादा रकम की मांग करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी. वहीं, जनपद गौतम बुद्ध नगर में कोविड-19 से मरने वालों का अंतिम संस्कार आज रविवार से नि:शुल्क किया जाएगा. Also Read - कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट का खौफ, तीसरी लहर की तरफ बढ़ रहा देश?

नोएडा प्रशासन ने कोविड-19 मरीजों से मनमाना किराया वसूले जाने की शिकायतों के मद्देनजर दूरी के हिसाब से एम्‍बुलेंस सेवा के लिए किराया निर्धारित कर दिया है. Also Read - कोविड-19 के खात्मे के प्रयासों के लिए सबसे बड़ा खतरा है डेल्टा स्वरूप: फाउची

जिलाधिकारी द्वारा शनिवार को जारी की गयी किराया सूची के अनुसार कोई भी एम्‍बुलेंस चालक 10 किलोमीटर की दूरी के लिए 1,000 रुपए ही लेगा. साथ ही 10 किलोमीटर की दूरी के लिए ऑक्सीजन युक्त एंबुलेंस का किराया 1,500 रुपए होगा. ज्यादा दूरी के लिए 100 रूपए प्रति किलोमीटर के हिसाब से किराया देना होगा. Also Read - Coronavirus Cases In India: कोरोना का कहर हुआ कम, 1 दिन में 50 हजार से अधिक लोग हुए संक्रमित, 1,358 लोगों की हुई मौत

जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने बताया कि बताया कि वेंटिलेटर एम्‍बुलेंस के लिए 10 किलोमीटर तक ढाई हजार रुपया और इससे ज्यादा दूरी पर 200 रुपए प्रति किलो मीटर का किराया लगेगा.

अगर कोई एम्‍बुलेंस चालक संक्रमित मरीज या उनके परिजनों से निर्धारित किराया से ज्यादा रकम की मांग करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी. अधिक शुल्क वसूलने की शिकायत के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है.

नोएडा : कोविड-19 से मृतकों का नि:शुल्क अंतिम संस्कार
जनपद गौतम बुद्ध नगर में कोविड-19 से मरने वालों का अंतिम संस्कार आज रविवार से नि:शुल्क किया जाएगा. जिले के सेक्टर 94 स्थित अंतिम निवास पर संक्रमित शवों कि अंतिम संस्कार किया जा रहा है. नोएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ प्रबंधक विजय रावल ने शनिवार को बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी आदेश के अनुसार कोविड-19 से मरने वालों के अंतिम संस्कार पर आने वाला खर्च संबंधित जनपदों के नगर निकाय तथा प्राधिकरण वहन करेंगे. उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था के तहत रविवार, 9 मई से संक्रमण से मरने वालों का नि:शुल्क अंतिम संस्कार किया जाएगा.