नोएडा: पिछले 17 माह में उत्तरप्रदेश गैंगस्टर कानून के तहत 150 गिरोहों के 569 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. जिला मजिस्ट्रेट ब्रजेश नारायण सिंह ने रविवार को पीटीआई भाषा को यह जानकारी देते हुए बताया कि जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, उनमें हत्या के आरोपी, खनन माफिया, शराब और नशीली दवाओं की तस्करी करने वालों से लेकर लोगों को धोखा देने वाले बिल्डर शामिल हैं. Also Read - शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे सादिक का निधन, बेटे ने दी जानकारी, सीएम योगी आदित्यनाथ ने जताया दुख

Also Read - Nandababa Temple Namaz Case: मंदिर परिसर में नमाज पढ़ने वाले दोनों आरोपियों की जमानत याचिकाएं कोर्ट ने की खारिज

विवेक मर्डर केस: सना ने बताई सच्चाई, कहा- पुलिस वाले चिल्लाते हुए कार के सामने आए और गोली मार भाग गए Also Read - UP कैबिनेट ने Ayodhya Airport का नया नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम एयरपोर्ट करने के प्रस्‍ताव को पास किया

उन्होंने बताया कि प्रशासन ने अब उनकी संपत्ति कुर्क करने और उनके बैंक लेनदेन पर रोक लगाने की प्रक्रिया शुरू की है. अपराधियों के लिए नीति में इस बड़े बदलाव का उद्देश्य उनके वित्तीय स्रोतों पर प्रहार करना है.

Exclusive: विवेक को गोली मारने वाले सिपाहियों के समर्थन में यूपी पुलिस, 5 करोड़ रुपए देने का ऐलान

एक आधिकारिक बयान में बताया गया है कि एक मई 2017 से 150 गिरोह मुखियाओं तथा उनके 419 साथियों सहित 569 असामाजिक तत्वों के खिलाफ उप्र गैंगस्टर एवं असामाजिक गतिविधियां (निरोधक) कानून, 1986 के तहत मामला दर्ज किया गया है. ये लोग नागरिकों तथा कानून व्यवस्था के लिए खतरा बन गए थे. उत्तर प्रदेश में इन दिनों कथित एनकाउंटर को लेकर चर्चा में है. लखनऊ में एक दिन पहले ही विवेक तिवारी को पुलिस ने कार नहीं रोके जाने पर गोली मार दी. इस पर जमकर बवाल मचा है. इसके पहले भी कई एनकाउंटर पर सवाल उठाए जा रहे हैं.