लखनऊ/नोएडा: उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो की एक विस्तारित लाइन के निर्माण को मंगलवार को मंजूरी दे दी. 15 किलोमीटर लंबी इस लाइन में कुल नौ स्टेशन होंगे. इस लाइन के निर्माण पर 2,682 करोड़ रुपये की लागत आयेगी. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है.

नोएडा मेट्रो रेल निगम (एनएमआरसी) के अधिकारियों ने बताया कि विस्तारित मेट्रो सेवा नोएडा सेक्टर 71 और ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क-पांच के बीच संचालित होगी, जो दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर जिले में दो शहरों को जोड़ेगी. इस परियोजना के पहले चरण में नोएडा सेक्टर 122, सेक्टर 123, ग्रेटर नोएडा सेक्टर चार, इको टेक और ग्रेटर नोएडा दो पांच स्टेशन बनेंगे. दूसरे चरण में ग्रेटर नोएडा सेक्टर तीन, सेक्टर 10, सेक्टर 12 और नालेज पार्क पांच, चार स्टेशन होंगे.

उत्तरप्रदेश मंत्रिमंडल बैठक में 34 प्रस्तावों को मंजूरी, रक्षा गलियारे में निवेश पर कंपनियों को छूट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इस संबंध में निर्णय किया गया. औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने पत्रकारों को बताया कि मंत्रिमंडल ने सेक्टर 71- नोएडा और नॉलेज पार्क पांच -ग्रेटर नोएडा के बीच इस परियोजना को मंजूरी दी . इस पर 2,682 करोड़ रुपये की लागत आएगी और यह 14.95 किलोमीटर लंबी होगी. उन्होंने बताया कि इस परियोजना के अगले तीन वर्षों में पूरा होने की उम्मीद है.

अधिकारियों ने बताया कि नये रेल संपर्क से गौर सिटी और नोएडा एक्सटेंशन की घनी आबादी वाले इलाकों को एक्वा लाइन और उससे सटी ब्लू लाइन मेट्रो नेटवर्क से जोड़ने की उम्मीद है. मेट्रो की ब्लू लाइन नोएडा को दिल्ली से जोड़ती है. गौरतलब है कि इस वर्ष जनवरी में नोएडा और ग्रेटर नोएडा को जोड़ने वाली मेट्रो की एक्वा लाइन का उद्घाटन किया गया था.