नोएडा: उत्तर प्रदेश महिला आयोग की टीम ने बुधवार को यहां के सेक्टर 12/ 22 स्थित साईं कृपा बालिका गृह में छापेमारी की. टीम को छापेमारी में वहां से महंगी शराब की बोतलें, विदेशी ब्रांड के कपड़े, लैपटॉप, वहां रह रही लड़कियों के पास से महंगी घड़ियां कीमती मोबाइल फोन आदि मिले हैं. महिला आयोग कल से ही जनपद में विभिन्न अनाथ आश्रमों पर छापेमारी कर रही है. नोएडा के विभिन्न अनाथ आश्रमों में पाई गई अनियमितताओं की जांच नगर मजिस्ट्रेट शैलेंद्र मिश्रा को सौंपी गई है. वह 15 दिन के अंदर अपनी जांच रिपोर्ट देंगे. Also Read - Film City in UP: यूपी सरकार का ऐलान, राज्य के इन क्षेत्रों में बनेगी फिल्म सिटी, मिलेगा रोजगार को बढ़ावा

Also Read - CBI ने लोगों के कंप्यूटर में मैलवेयर डालने पर 6 कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज किया

बिहार: बालिका गृह में 29 नहीं, बल्कि 34 नाबालिग लड़कियों के साथ रेप हुआ Also Read - UP: स्‍टोन व्यवसायी के मर्डर से जुड़े 5 ऑडियो लीक, IPS, IAS और नेताओं के Nexus का खुलासा

कई जगहों पर किया निरीक्षण

नगर मजिस्ट्रेट शैलेंद्र मिश्रा ने बताया कि उत्तर प्रदेश महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने नोएडा के विभिन्न अनाथ आश्रमों में कल और आज छापेमारी की. उन्होंने बताया कि कल शाम को उन्होंने सेक्टर 70 स्थित विनियार्ड होम्स में छापेमारी की. वहां पर बच्चे बर्तन धोते हुए पाए गए. शेल्टर होम के अंदर पानी के टैंक में कीड़े मिले. वहां पर 17 बच्चे रहते हैं जिनकी उम्र 10 वर्ष से कम है. सफाई व्यवस्था में भी खामियां पाई गई. सफाई के लिए कोई कर्मचारी नहीं था.

‘लड़कियों को सजा-धजाकर कार से गोरखपुर ले जाते थे, होटल में गलत काम के बाद 500-1000 रुपए देते थे’

साईं कृपा बालिका गृह में मिली महंगी घडियां, परफ्यूम भी बरामद हुए

इसके बाद मंगलवार शाम महिला आयोग की टीम सेक्टर 12/ 22 स्थित साईं कृपा बालिका गृह में पहुंची. उत्तर प्रदेश महिला महिला आयोग की अध्यक्ष सुषमा सिंह ने बताया कि बालिका गृह में जांच के दौरान लड़कियों के पास से महंगी घड़ियां, चश्मे, विदेशी परफ्यूम, विदेशी ब्रांड के कपड़े, पांच स्टोर मिले हैं, जिसमें विदेशी कपड़े भरे हुए थे. कई कपड़ों से अभी तक टैग नहीं निकला है. एक लैपटॉप बरामद हुआ है. उन्होंने बताया कि बालिका गृह से विदेशी शराब की बोतलें भी मिली हैं. उन्होंने बताया कि गेट पर चौकीदार नहीं था. उन्होंने बताया कि बालिका गृह से मिले साक्ष्यों के आधार पर इसकी जांच शुरू की गई है.