नोएडा: नोएडा में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए प्राधिकरण द्वारा हर संभव कोशिश की जा रही है. इसी क्रम में सेक्टर-6 में एंटी स्मॉग गन भी लगाई गई. सेक्टर-6 चौराहा एक व्यस्ततम सड़क है, जहां अक्सर बड़ी संख्या में ट्रैफिक रहता है. इसके अलावा करीब 30 निर्माणाधीन साइटों पर एंटी स्मॉग गन लगाई जा चुकी है. इसकी जानकारी नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने दी. नोएडा सेक्टर-6 पर लगाई गई एंटी स्मॉग गन सुबह में साढ़े 9 बजे से डेढ़ बजे तक और शाम को ढाई बजे से साढ़े 5 बजे तक चलाई जाती है. Also Read - प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए एमपी सरकार का अनोखा कदम, अब पराली से ईधन बनाने की लगेगी यूनिट

दरअसल, नोएडा शहर में प्रदूषण का स्तर पिछले हफ्ते से खतरनाक श्रेणी में रहा है. ट्रैफिक से उड़ने वाली धूल को रोकने के लिए एक सेक्टर-6 पर एंटी स्मॉग गन लगाई गई है. हालात पर काबू पाने के लिए शहर में सर्वे भी कराया जा रहा है कि सेक्टर-6 की तरह और किन-किन जगहों पर एंटी स्मॉग गन लगाई जा सकती है. जानकारी के अनुसार, जल्द ही शहर में करीब 10 व्यस्तम जगहों पर एंटी स्मॉग गन लगाई जाएगी. Also Read - Delhi Pollution News: जहरीली हुई दिल्ल-एनसीआर की हवा, सांस संबंधी बीमारी के मरीजों में इजाफा

नोएडा ऑथोरिटी में ओएसडी अविनाश त्रिपाठी ने बताया कि, “10 नवंबर तक नोएडा में 27 एंटी स्मॉग गन लग चुकी थी. एनजीटी के मुताबिक, जहां 20 हजार मीटर की निर्माणाधीन साइट्स हैं, वहां एंटी स्मॉग गन होने चाहिए. ऐसी कुल 27 जगहें हैं, जहां 5 सरकारी प्रोजेक्ट्स हैं और सेक्टर-6 भी शामिल है.” Also Read - Health Tips: वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याओं निपटने के लिए, डाइट में शामिल करें ये सुपरफूड्स

उन्होंने कहा, “सेक्टर-6 एक व्यस्ततम सड़क है, वहां अक्सर ट्रैफिक लगा रहता है, ऐसी और जगहों को चिन्हित किया जा रहा है. हालांकि अभी कुल संख्या बता पाना मुश्किल होगा कि और कितनी एंटी स्मॉग गन लगनी हैं. ट्रैफिक से उड़ने वाली धूल को रोकने के लिए सेक्टर-6 पर एंटी स्मॉग गन लगाई गई.”

त्रिपाठी ने कहा, “निर्माणाधीन साइटों पर लगाना आवश्यक है, जिन जगहों पर एंटी स्मॉग गन नहीं लगाई गई है, उन पर हम जुर्माना भी कर रहे हैं. ग्रेप के नॉर्म्स में एंटी स्मॉग गन भी शामिल है.”