Vrindavan News: उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं. गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है. वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है. तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं.Also Read - योगी सरकार का बड़ा फैसला, मथुरा-वृदांवन का 10 वर्ग किमी क्षेत्र तीर्थ स्थल घोषित; शराब और मीट बेचने पर प्रतिबंध

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें. उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. Also Read - Video: UP महिला कांग्रेस की नेता ने ट्रेनिंग कैम्‍प में सीनियर नेता पर लगाया अभद्रता का आरोप, बोलीं- मुझे छूने की जरूरत नहीं थी

नियंत्रण कक्ष प्रभारी डॉ. भूदेव प्रसाद सिंह ने बताया कि बुधवार को वृन्दावन में पांच सौ से अधिक लोगों के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए जिनमें प्रेम मंदिर, इस्कॉन, बांकेबिहारी मंदिर सहित अन्य भीड़भाड़ वाले स्थान प्रमुख हैं. उनके अनुसार ग्रामीण अंचल में भी सौ से अधिक नमूने लिए गए हैं. Also Read - मध्य प्रदेश में नया नियम, शादी में शामिल होना है तो पूरी करनी होगी ये शर्त

(इनपुट भाषा)