लखनऊ: हस्त निर्मित बेलबूटेदार कालीनों के लिए दुनिया में भदोही की अलग पहचान है. कालीन निर्यातकों के लिए यूपी की योगी सरकार ने एक बड़ा तोहफा दिया है. एक ‘जनपद, एक उत्पाद’ योजना के तहत अब कालीनों की बिक्री सीधे ऑनलाइन बुकिंग के जरिए भी होगी.

योगी सरकार ने दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन साइट अमेजन से करार किया है. इससे जहां भदोही के कालीन निर्यातकों को बड़ा फायदा होगा और हस्तनिर्मित कालीन की खूबसूरती पूरी दुनिया के घरों तक पहुंचेगी. दूसरी बात कालीन के मार्केट और सेलिंग के लिए भी नहीं परेशान होना पड़ेगा. राज्य की योगी सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों से एक खास उत्पाद चुना है, जिसमें भदोही का कालीन भी शामिल है. यहां हर साल 10 हजार करोड़ से अधिक का कालीन व्यापार होता है और विदेशों को निर्यात किया जाता है. लाखों बुनकर और कामगार कालीन उद्योग से जुड़े हैं.

यूपी के सभी विश्वविद्यालयों में 84 दिनों में होंगे दीक्षांत समारोह, छात्र-छात्राओं को मिलेगी डिग्री

कालीन निर्यातकों को होगा फायदा
कालीन निर्यातकों की सुविधा के लिए एक्सपोमार्ट भी अंतिम चरण में है. सरकार ने निर्यातकों की सुविधा को देखते हुए इसे जल्द चालू कराने का भी निर्णय लिया है. अधूरे कार्यों को पूरा करने के बाद यह कालीन उद्योग का एक केंद्रीय बाजार बन जाएगा. लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में पिछले दिनों एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था, जिसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी शामिल हुए थे. राज्य सरकार ने सभी जिलों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर उसकी समीक्षा की थी.

राष्ट्रपति कोविंद ने किया ‘वन डिस्ट्रिक, वन प्रोडक्ट’ समिट का शुभारंभ, 75 जिलों के उत्पादों की प्रदर्शनी देखी

मनपंसद कालीनों की कर सकेंगे बुकिंग
मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह ने बताया कि प्रदेश के जिन जिलों के उत्पाद ऑनलाइन सेलिंग के लिए चयनित किए गए हैं, उनमें भदोही का कालीन भी शामिल है. अमेजन की साइट पर जाकर अपनी मनपंसद कालीनों की बुकिंग ऑनलाइन की जा सकेगी. बाजार की वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए सरकार ने यह निर्णय लिया है. इसके अलावा इस उद्योग से जुड़े हस्तशिल्पियों को सरकार की लाभकारी योजनाओं से जोड़ा जाएगा और उन्हें इसका लाभ दिलाया जाएगा. बुनकारों को पुरस्कृत करने के साथ पेंशन का भी लाभ दिया जाएगा. युवाओं को जेड़ने का भी खास अवसर भी मिलेंगे.