Omicron Guideline for UP: देश के कई राज्यों में ओमिक्रोन (Omicron in UP) के मामले सामने आये हैं. कुछ राज्यों में मामले मिले हैं, लेकिन ओमिक्रोन (Omicron) ने पूरे देश को डरा दिया है. वहीं राज्य सरकारें भी अपने-अपने स्तर से तैयारियां कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश ने सभी जिलों के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है. ये गाइडलाइन सावधानी और सतर्कता से जुड़ी हुई है. इसके साथ ही यदि कोई दूसरे प्रदेश से यूपी जा रहा है तो उसका अनिवार्य रूप से RTPCR टेस्ट कराया जा रहा है. यदि कोई पॉजिटिव मरीज मिलता है तो उसका जीनोम परीक्षण भी कराया जा रहा है.Also Read - Gujarat Night Curfew News: गुजरात के 27 शहरों में Night Curfew चार फरवरी तक बढ़ाया गया, ये रहेंगी पाबंदियां

यूपी सरकार के अनुसार, ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को और भी बेहतर करने पर जोर दिया जा रहा है. नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर प्रदेश सरकार ने सभी जिलों में सर्तकता सावधानी से जुड़ी गाइडलाइन जारी कर दी है. प्रदेश में आने वाले सभी यात्रियों की RTPCR जांच के अलावा हर एक पॉजिटिव मरीज की जीनोम परीक्षण कराया जा रहा है. ओमीक्रान से निपटने के लिए चिकित्सीय व्यवस्थाओं को तेजी से बेहतर किया जा रहा है. प्रदेश के CHC-PHC में 19 हजार बेड और मेडिकल कॉलेजों में 55 हजारों बेड की बढ़ोतरी की जा रही है. Also Read - Haryana में कोरोना पाबंदियों में ढील, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स; स्कूलों को लेकर यह हुआ फैसला

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार ने स्वच्छता, कोविड प्रोटोकॉल, फोकस टेस्टिंग, टीकाकरण, सर्विलांस, सैनिटाइजेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा है. प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज में 100 बेड वाले पीकू नीकू, 855 सीएचसी में 50 और 3011 पीएचसी में 10 नए बेड की व्यवस्था की जा रही है. सीएम ने आला अधिकारियों को नए वेरिएंट को लेकर अस्पतालों में व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही प्रदेश सरकार ऑक्सीजन, बेड, लैब जैसी व्यवस्थाओं पर अपनी पैनी नजर बनाए हुए है. Also Read - दक्षिण अफ्रीकी चमगादड़ों में मिला कोरोना का 'NeoCov' वेरिएंट क्या इंसानों के लिए है घातक? WHO की तरफ से आई यह जानकारी