लखनऊ : उत्तरप्रदेश में गुरूवार को आए भयंकर आंधी तूफ़ान में हुए जानमाल की क्षति और इस दौरान उत्तरप्रदेश के सीएम योगी का कर्नाटक दौरा विपक्षी पार्टियों के निशाने पर आ गया है. एक तरफ पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर तंज कसते हुए उन्हें अपना मठ कर्नाटक में ही बना लेने की सलाह दे डाली. वहीँ बसपा सुप्रीमो मायावती ने यूपी सीएम और पीएम मोदी पर लापरवाही का आरोप लगाया.

कर्नाटक में ही मठ बना लें योगी आदित्यनाथ
गौरतलब है कि गुरुवार को देश के कई राज्यों समेत उत्तरप्रदेश में अचानक आए आंधी-तूफ़ान ने भयंकर तबाही मचाई. उत्तरप्रदेश में लगभग 100 लोगों की मौत, दर्जनों के घायल होने और 150 से ज्यादा मवेशियों के मारे जाने की सूचना है साथ ही लाखों की संपत्ति और फसलें भी चौपट हो गई हैं. प्रदेश की ऐसी स्थिति में मुख्यमंत्री योगी द्वारा कर्नाटक विधानसभा के चुनाव प्रचार पर जाना विपक्ष के लिए एक बड़ा मुद्दा बन गया है. पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि प्रदेश की जनता ने उनका चयन अपने प्रदेश की समस्याओ के समाधान के लिए किया है न कि कर्नाटक की राजनीति के लिए.


पीएम और सीएम स्वार्थी : मायावती
बसपा सुप्रीमो मायावती ने दिल्ली में संवाददाताओं से मुखातिब होते हुए इस मुद्दे पर यूपी सीएम और प्रधानमंत्री मोदी दोनों पर जनता के प्रति उदासीनता बरतने का आरोप लगाया मायावती ने कहा कि भयंकर आंधी-तूफान ने तबाही मचाई. यूपी,राजस्थान, हरियाणा में भारी नुकसान हुआ ऐसे में भी प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री उदासीन बने रहे प्राकृतिक आपदा के समय पूरी तरह से लापरवाही बरती गई. मायावती ने कहा की पीएम और सीएम कर्नाटक के चुनाव में व्यस्त हैं उन्हें जनता की परवाह नहीं है. उनका कहना है कि भाजपा सरकार पूरी तरह से स्वार्थी सरकार है जो कि अभी चुनावी राजनीति के स्वार्थ में व्यस्त है. कानून व्यवस्था और एससी/एसटी एक्ट को लेकर भी मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधा उन्होंने कहा कि एनडीए के मंत्री गुलाम मानसिकता वाले हैं सरकार ने अब तक एससी/एसटी एक्ट को लेकर उपजी समस्या का निपटारा नहीं किया. कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर भी ये सरकार पूरी तरह से विफल रही है.