नई दिल्ली. यूपी के बांदा के अतर्रा थाना अंतर्गत पचोखर गांव में मंगलवार की सुबह 9 बजे खेलते-खेलते एक साल की बच्ची खुले बोरवेल गड्ढे में जा गिरी. बच्ची के माता-पिता उसी खेत मे मजदूरी का काम कर रहे थे, तभी ध्यान न देने पर अचानक यह घटना घट गई. गहरे बोरवेल की करीब 10 फीट की गहराई में बच्ची फंस गई. घटना की सूचना पुलिस को दी गई. एसपी सहित कई अधिकारी एम्बुलेंस के साथ मौके पर पहुंच गए.

जेसीबी मशीन की मदद से पुलिस बोरवेल गड्ढे के बगल से दूसरी गहरी सुरंग खुदवा करीब 10 फुट नीचे गहराई के बराबर में पहुंची. एक-एक करके पुलिस जवानों को मानव श्रृंखला बना सुरंग से नीचे उतारा गया. करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद बच्ची को सकुशल सुरंग से बाहर निकालने में सफलता हाथ लगी. इस दौरान बांदा एसपी गणेश साहा समेत तमाम अफसर मौके पर मौजूद रहे. बच्ची के बाहर आते ही वहां मौजूद लोगों और पुलिसकर्मियों के चेहरे पर मुस्कान भर आई और इलाका तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा.

बच्ची के बोरवेल से बाहर आते ही उसे तत्काल मौके पर मौजूद डॉक्टरों की टीम के पास ले जाया गया. यहां से तुरंत एम्बुलेंस में बच्ची को माता-पिता के साथ अस्पताल ले जाया गया. एसपी गणेश साहा ने बताया कि एक साल की बच्ची पुष्पा प्रजापति को सकुशल बाहर निकाल लिया गया है. उसे मेडिकल जांच के लिए माता-पिता के साथ अस्पताल भेजा गया है. उन्होंने कहा कि इस तरह बोरवेल का खुला गड्ढा छोड़ने वाले के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की जाएगी.