गाजीपुर/बलिया: उत्तर प्रदेश के गाजीपुर और बलिया जिलों में कुछ सरकारी प्राथमिक पाठशालाओं को मदरसे में तब्दील करने के प्रयास व उनके नाम में ‘इस्लामिया‘ शब्द जोड़ने और रविवार के बजाय शुक्रवार को साप्ताहिक अवकाश किए जाने की जांच के आदेश दिए गए हैं. गौरतलब है कि हालिया दिनों में देवरिया जिले में इस प्रकार का पहला मामला प्रकाश में आया था उसके बाद कई जगहों से ऐसी शिकायतें सामने आई हैं.

UP: सरकारी स्‍कूल बना ‘मदरसा’, रविवार की जगह शुक्रवार को होती है छुट्टी

गाजीपुर में 11 प्राथमिक विद्यालयों को इस्लामिया बनाया
गाजीपुर से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक जिलाधिकारी के. बालाजी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी श्रवण कुमार गुप्ता को जिले में 11 सरकारी प्राइमरी स्कूलों को इस्लामिया प्राथमिक विद्यालय बनाकर चलाए जाने और उनमें रविवार की जगह जुमे को साप्ताहिक अवकाश किये जाने की जांच करने का आदेश को दिया है. जिलाधिकारी ने बताया कि मीडिया में प्रकाशित एक खबर का संज्ञान लेते हुए उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारी को प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है.

सरकारी स्कूल में जुमे के रोज करते थे अवकाश
उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों की तरह यह बात प्रकाश में आई है कि गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद, भदौरा, सादात और देवकली ब्लॉक में कुल 11 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों को इस्लामिया प्राथमिक स्कूल बना दिया गया है. इस बीच, बलिया जिले में भी ऐसी ही कार्यवाही हुई है. जिलाधिकारी भवानी सिंह खंगारौत ने जिले के कई सरकारी प्राथमिक विद्यालयों के भवनों पर इस्लामिया शब्द जोड़कर अंकित करने और रविवार की जगह शुक्रवार को अवकाश होने के मामले की जांच बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष राय को सौंपी है.

देवरिया में टॉयलेट साफ करने से मना करने पर आवासीय स्कूल की दो छात्राओं को बाहर निकाला

खंगारौत ने बताया कि सियर क्षेत्र में छह, रसड़ा इलाके में दो और सुखपुरा क्षेत्र में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के नाम के आगे इस्लामिया शब्द जोड़कर विद्यालय भवनों पर अंकित किये जाने और शुक्रवार को अवकाश होने का मामला बेहद गम्भीर है. इस मामले में उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष राय से रिपोर्ट तलब की है.रिपोर्ट मिलने के बाद मामले की जांच करायी जायेगी.जांच के बाद बेसिक शिक्षा विभाग के सम्बंधित अधिकारी पर कार्रवाई की जायेगी. वही देवरिया जिले के मामले में भी ऐसे सभी प्राथमिक विद्यालयों को चेतावनी दी गई है साथ ही पूरे प्रकरण की जांच कराई जा रही है.