महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं की मॉब लिंचिंग के कुछ ही दिन बाद अब उत्तर प्रदेश में दो साधुओं की हत्या हो गई है. यह वारदात बुलंदशहर जिले में हुई है. जिले के अनूपशहर कोतवाली के पगोना गांव में शिव मंदिर परिसर में ये घटना हुई. यहां संतों के कमरे में खून से लथपथ दो साधुओं के शव पड़े मिले हैं. Also Read - योगी आदित्यनाथ बोले- अनलॉक 1.0 का मतलब आजादी नहीं है, सार्वजनिक स्थानों पर पांच से अधिक लोग एकत्र ना हों

जिन दो साधुओं की हत्या हुई है, वे मंदिर में ही रहते थे. इनकी पहचान रहने वाले 55 वर्षीय साधु जगनदास और 35 वर्षीय साधु सेवादास के तौर पर हुई है. रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार रात हत्या की गई है. मंगलवार सुबह ग्रामीण मंदिर पहुंचे तो उन्होंने साधुओं के लथपथ शव देखे. इसके बाद मंदिर में सैकड़ों की भीड़ इकट्ठा हो गई. सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया है और आश्ववासन दिया है कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. Also Read - उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस, जानिए क्या है मामला

इस पूरे मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दे दिए हैं. घटना का संज्ञान मिलते ही उन्होंन जिले के जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित दूसरे आला अधिकारियों को तुरंत घटना स्थल में जाकर कार्रवाई करने के आदेश दिए. उन्होंने कहा कि इस घटना में जो भी शामिल होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा.

बताया जा रहा है कि जिस आरोपी को गिरफ्तार किया गया है वह घटना को अंजाम देते हुए नशे में धुत था. जिलाधिकारी ने का कि जब आरोपी से पूछताछ की जा रही थी तो उसने कहा कि यह सब भगवान की मर्जी थी.

पुलिस ने शक के आधार पर गांव के एक युवक को हिरासत में लिया है. ये अपराधी किस्म का व्यक्ति बताया जा रहा है. पुलिस को सूचना मिली है कि युवक और संतो के बीच कल किसी बात को लेकर कहासुनी हुई थी. पुलिस के अलावा आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं.

इससे पहले महाराष्ट्र के पालघर में 16-17 अप्रैल रात दो साधुओं और उनके ड्राइवर की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में 100 से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए थे.