लखनऊ: राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (आरएसएस) का अनुषांगिक संगठन ‘एकल अभियान’ 16 फरवरी से तीन दिनों तक लखनऊ के रमाबाई मैदान में एकल परिवर्तन कुंभ का आयोजन करने जा रहा है. एकल अभियान के राष्ट्रीय महामंत्री मानवेन्द्र सिंह ने बताया कि हमारे इस अभियान के 31 वर्ष पूरे होने पर जो सफलता मिली है, उसे समाज के समाने रखा जाए. 16 फरवरी को पब्लिक कार्यक्रम है. इसमें 20 हजार गांवों के एक लाख कार्यकर्ता एकत्रित हो रहे हैं. वह सुबह आएंगे शाम को चले जाएंगे. 17 और 18 को इनडोर कार्यक्रम आयोजित होगा. कार्यक्रम में करीब दो लाख लोगों के आने की संभावना है.

उन्होंने बताया इस कुंभ में पूरे विश्व के प्रतिनिधि एकत्रित हो रहे हैं. खासकर अमेरिका, आस्ट्रेलिया, दुबई समेत अनेक देशों से लोग आ रहे हैं. 16 को शामिल होने वाले एक लाख (स्वराज सेनानी) का भोजन लोगों के घरों में तैयार होगा. तीन हजार लोग किसी न किसी के घर में ठहरेंगे. आरएसएस से जुड़े लोगों के कंधों पर उनके भोजन और ठहराने की जिम्मेदारी होगी. महाआयोजन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग से संबोधित कर सकते हैं तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भी शामिल होने की संभावना है. 18 फरवरी को समापन अवसर पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी आएंगे. उद्घाटन सत्र में राम मंदिर ट्रस्ट में शामिल गुरुगोवद देव गिरि के अलावा साध्वी ऋतंभरा भी शामिल होंगी.

उन्होंने बताया कि एकल अभियान ग्रामीण शिक्षा के क्षेत्र में पिछले 31 वर्ष से भारत के गांव-गांव में काम कर रहा है. इसकी शुरुआत 1989 में धनबाद से हुई थी. इसमें वनवासी आदिवासियों को फोकस किया गया है. तत्काल समय 1 लाख दो हजार एक सौ विद्यालय पूरे भारत में चल रहे हैं. मिजोरम, मेघालय, नागालैंड में अभी कोई शाखा नहीं हैं इसके अलावा पूरे भारत में केन्द्र हैं.