नई दिल्‍ली: श्री राम जन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट ने आज आयोध्‍या में प्रस्‍तावित श्री राम जन्मभूमि मंदिर की भव्‍य तस्‍वीरें जारी की हैं. ट्रस्‍ट ने अपने टि्वटर पर लिखा है, श्री राम जन्मभूमि मंदिर भव्यता और दिव्यता की अद्वितीय कृति के रूप में विश्व पटल पर उभरेगा. मन्दिर के आंतरिक और बाह्य स्वरूप के कुछ और चित्र. Also Read - Ayodhya Masjid: मक्का के काबा शरीफ की तरह होगी अयोध्या की मस्जिद, जानें कैसी दिखेगी...

बता दें कि कल यानि बुधवार 5 अगस्‍त को अयोध्‍या में राम जन्‍मभूमि मंदिर के भूमिपूजन का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई बड़े नेता और संत भाग लेने जा रहे हैं. कार्यक्रम के दौरान मंच पर सिर्फ पांच लोग होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत, ट्रस्ट के प्रमुख महंत नृत्य गोपालदास महाराज, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. Also Read - इकबाल अंसारी का सीबीआई कोर्ट से आग्रह- अब खत्म हो बाबरी मस्जिद का मामला

देश के लगभग 2000 पावन तीर्थस्थलों की पवित्र मिट्टी और लगभग 100 पवित्र नदियों का पावन जल श्रीरामभक्तों द्वारा भूमि पूजन के निमित्त भेजा गया है. इसके अतिरिक्त देश भर से शंकराचार्यों और संतों ने अपने प्रेम और श्रद्धा स्वरूप विभिन्न भेंट भेजी हैं.

राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया है. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने संवाददाताओं से कहा कि निमंत्रण सूची भाजपा के वरिष्ठ नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अलावा वरिष्ठ वकील के परासरन एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ ‘निजी तौर पर चर्चा’ करके तैयार की गई है.

अयोध्‍या के कुछ गणमान्य व्यक्तियों को आमंत्रित किया गया है. विहिप के दिवंगत नेता अशोक सिंघल के भतीजे सलिल सिंघल कार्यक्रम में ‘यजमान’ होंगे.

नेपाल के संतों को भी आमंत्रित किया गया है क्योंकि जनकपुर का बिहार, उत्तर प्रदेश और अयोध्या से भी संबंध है. राज्य सरकार एक डाक टिकट भी जारी करेगी जोकि मंदिर के डिजाइन पर आधारित है.राय के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परिसर में ‘पारिजात’ का पौधा भी लगाएंगे.