नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) शनिवार को कानपुर दौरे पर पहुंचेंगे, जहां वे नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक लेंगे और ‘नमामि गंगे प्रोजेक्ट’ की समीक्षा करेंगे. नेशनल गंगा काउंसिल की इस बैठक में 12 केंद्रीय मंत्रियों के साथ ही 9 केंद्रीय विभागों के सचिव, उत्तराखंड (Uttarakhand), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्रियों को भी कानपुर (Kanpur) बुलाया गया है. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट कर नेशनल गंगा काउंसिल की इस बैठक के बारे में जानकारी दी गई है.

प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्वीट के मुताबिक, कानपुर (Kanpur) में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्रीय गंगा नदी पुनर्जीवन, सुरक्षा और प्रबंधन परिषद (नेशनल गंगा काउंसिल) की पहली बैठक की अध्यक्षता करेंगे. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस संबंध में हुए कार्यों की प्रगति की समीक्षा करेंगे और गंगा नदी (Ganga River) की सफाई पर भी चर्चा करेंगे. कानपुर में यह बैठक शनिवार को 11 बजे शुरू होगी.

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को यह बैठक चंद्रशेखर आजाद कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कानपुर में लेने वाले हैं, जिसमें वह गंगा नदी से जुड़ी परियोजनाओं पर चर्चा करेंगे. इसके लिए उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों को भी बैठक में शामिल होने के लिए कहा गया है. हालांकि पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) इस मीटिंग में हिस्सा लेंगी या नहीं इस पर अभी संशय के बादल छाए हुए हैं.

वहीं संभावना है कि अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ‘नमामि गंगे प्रोजेक्ट’ से जुड़ी कुछ घोषणाएं भी कर सकते हैं. बता दें कि पिछले कुछ सालों में यह प्रोजेक्ट नदी के जल प्रदूषण में किसी भी तरह का बदलाव ला पाने में नाकाम ही साबित हुआ है. नदी का कानपुर में पड़ने वाला हिस्सा इसका सबसे अधिक प्रदूषित हिस्सा माना जाता है. जिसके चलते पीएम मोदी स्पेशल स्टीमर से गंगा में नौका विहार कर इसके प्रदूषण के स्तर का जायजा लेंगे.