लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक बार फिर लखनऊ पहुंचे हैं. उन्होंने यहां के गांधी प्रतिष्ठान में 60,000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास किया. उन्होंने शिला पर हस्ताक्षर किया. इसके बाद योजनाओं की शिला रखी. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हम सब मिलकर आगे बढ़ने को प्रतिबद्ध हैं. पांच महीने पहले जो संकल्प लिया गया था, उसे जमीन पर उतारने के लिए बहुत बड़ा कदम उठाया गया. मैं लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहा हूं. मुझे अंदाजा है कि 60 हजार करोड़ रुपए कितनी बड़ी रकम होती है. कई संकटों को पार करते हुए पांच माह में 60 हजार करोड़ का निवेश लाना अद्भुत सफलता है. ये रिकॉर्ड ब्रेकिंग सेरेमनी है, ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी है. उन्होंने कहा कि सालों से जो जीएसटी अटका हुआ था, उसके लागू होने के बाद उद्योग को इसका फायदा हुआ है. प्रगति की दौड़ तेज गति से दौड़ना है. जो कोयला कभी कालिख की वजह बना था, उसकी आज कोई कमी नहीं है. कभी कोई ग्रिड कोयला की कमी के चलते बंद नहीं हुई है. आज हर गांव तक बिजली पहुंचाई जा चुकी है. अगले साल मार्च तक हर घर में बिजली पहुंचेगी. मेरे खाते में सिर्फ 4 साल हैं, अगर आलोचना करेंगे तो उनके खाते में 60 साल हैं. आलोचना उन्हीं की निकलेगी. Also Read - CM योगी ने दिया आदेश- कोरोना से बचाव के लिए गुजरात से मंगाये जाए Remdesivir इंजेक्शन

Also Read - PM Modi ने ट्वीट कर पुथंडु, बिहू, महा विशु के अवसर पर देशवासियों को दीं शुभकामनाएं, सभी के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की

पहले उद्योगपति घरों में जाकर झुकते थे Also Read - #Yogi Adityanath: योगी आदित्यनाथ को हुआ कोरोना, लोग कर रहे दुआ, बोले- Get well soon

उन्होंने कभी समाजवादी पार्टी का अहम हिस्सा रहे अमर सिंह का नाम लेकर कहा कि ये जानते हैं कि पहले उद्योगपति घर पर जाकर झुकते थे, क्योंकि नियत साफ़ नहीं थी, इसलिए उद्योगपति के साथ उनकी फोटो तक सामने नहीं आती थी. हम साथ खड़े होते हैं. हम उद्योगपति को अगर चोर लुटेरा कहेंगे तो ये कौन सा तरीका है. हां, जो गलत करेगा, उसे देश छोड़ कर भागना पड़ेगा. जो प्रोजेक्ट शुरू हुए हैं उनसे स्थानीय लोगों से प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा. किसानों, युवाओं को रोजगार मिलने वाला है. मैंने वादा किया था कि यूपी को सूद सहित वापस लौटाऊंगा. ये प्रोजेक्ट झांसी, मिर्जापुर सहित पूरे प्रदेश में होंगे. ये सबका साथ, सबका विकास है.

जो आज हुआ, वो यूपी में पहले कभी नहीं हुआ

निवेश यूपी की बड़ी उपलब्धि है. इस काम में बहुत मेहनत और गालियां भी लगती है. साइकिल के ट्यूब में निर्धारित पॉइंट से हवा भर जाती है, लेकिन कई बार किसी जगह से हवा निकल जाती है, इसलिए साइकिल रुक जाती है. ये आयोजन यूपी के बढ़ते भरोसे और विकास का प्रतीक है. हम देश के छोटे शहरों गांवों में संचार व्यवस्था पहुंचा रहे हैं. ये मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया अभियान इसका बेहतरीन उदाहरण है. डिजिटल इंडिया सस्ते होते मोबाइल के कारण है. देश मोबाइल फ़ोन बनाने के मामले में दुनिया में दूसरे नम्बर पर पहुंच चुका है.

LIVE: लखनऊ में PM मोदी ने कहा- मैं गरीब मां का बेटा हूं, गरीबी ने मुझे ईमानदारी सिखाई

योगी ने कहा- निवेश यूपी के लिए बड़ी महत्वपूर्ण घटना

इस दौरान पीएम मोदी का योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ की मशहूर चिकन की कढ़ाई की शॉल भेंट की है. इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि जो प्रतिबद्धता की थी, उसे पूरा कर रहे हैं. यूपी के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण घटना है. बसपा सरकार में 57 हजार करोड़ का, सपा सरकार में पांच साल में 50 हजार का निवेश हुआ था. लेकिन बीजेपी की सरकार में सिर्फ एक साल में 60 हजार करोड़ की परियोजनाओं का निवेश हो गया है. पहले ऐसा होता था कि एक क्षेत्र विशेष में ही उद्योग लगते हैं, लेकिन इस विषमता को दूर करने की कोशिश की है. पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के बाद बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की शुरुआत करेंगे. इसके साथ ही बुंदेलखंड में बड़ा निवेश किया जाएगा. उन्होंने कहा कि निवेशकों को मैं आश्वस्त कराना चाहता हूं कि हम नई परंपरा की शुरुआत कर रहे हैं. एक समय था जब निवेशक यहां रुकना नहीं चाहते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है. यहां से कोई जाना नहीं चाहता है.

देश में इंवेस्टर्स समिट की शुरुआत पीएम मोदी ने की: राजनाथ सिंह

इस दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री रहा हूं, लेकिन इसके बाद भी मैं यकीन नहीं कर सकता था कि 6 माह पहले ही यहां इंवेस्टर समिट हुआ हो और 6 माह के अंदर ही 60 हजार करोड़ रुपए की योजनाएं धरातल पर आ गईं. इंवेस्टर्स समिट का सिलसिला पहली बार देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है. अब उत्तर प्रदेश के लखनऊ से भी देश के विकास का एक्सप्रेस-वे गुजर रहा है. उन्होंने कहा कि उद्योगपतियों को अगर अतिरिक्त सुरक्षा की जरूरत होगी, तो वह सुरक्षा देंगे.

‘ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी’ में पीएम मोदी ने 81 परियोजनाओं की नींव रखी

इस दौरान एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में और निवेश बढ़ाएंगे. उन्होंने कहा कि ई-रिक्शा, ऑटो रिक्शा के क्षेत्र में 50 हजार लोगों को रोजगार देंगे. हम निवेश के जरिए कुल 10 लाख लोगों को रोजगार देंगे. उन्होंने कहा कि योगी सरकार ईमानदारी से काम कर रही है. सेरेमनी में अब तक कई उद्योगपति संबोधित कर चुके हैं. यहां गौतम अडानी, मंगलम बिड़ला आदि मौजूद रहे. बता दें कि इन योजनाओं को लेकर आयोजित ‘ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी’ में पीएम मोदी कुल 81 परियोजनाओं की नींव रखी है. पीएम मोदी का लगातार दूसरे दिन लखनऊ का ये दूसरा दौरा है. वह शनिवार 28 जुलाई को भी लखनऊ में थे. शनिवार को उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), अमृत योजना व स्मार्ट सिटी परियोजना की तीसरी वर्षगांठ के मौके पर आए आयोजित‘ट्रांस्फार्मिंग अर्बन लैंडस्केप’ कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे. इसके तहत उन्होंने यहां 3897 करोड़ रुपए की 99 परियोजनाओं का शिलान्यास किया था.

75 बड़े उद्योगपति भी ले रहे हिस्‍सा

इस कार्यक्रम में करीब डेढ़ हजार लोग भी मौजूद हैं. इसके अलावा इस कार्यक्रम में करीब 75 बड़े उद्योगपति भी हिस्‍सा ले रहे हैं. बता दें कि फरवरी, 2018 में हुए यूपी इन्वेस्टर्स समिट में भी प्रधानमंत्री ने शिरकत की थी और यूपी में डिफेंस कॉरीडोर की स्‍थापना का एलान किया था. 60 हजार करोड़ रुपये की इन अहम परियोजनाओं मे रिलायंस जियो इन्फोकॉम की ओर से 10 हजार करोड़, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का 10 हजार करोड़, टेग्ना के 5 हजार करोड़, बीएसएनएल के 5 हजार करोड़, पेटीएम के 3500 करोड़, एस्सेल ग्रुप के 3000 करोड़, अदानी ग्रुप के 2600 करोड़ और टाटा ग्रुप के 2300 करोड़ रुपए के बड़े निवेश प्रोजेक्ट शामिल हैं. ये 81 निवेश प्रोजेक्ट प्रदेश के 21 जिलों में स्थापित होंगे.