अमेठी (उत्तर प्रदेश): कांग्रेस के गढ़ माने जाने वाले अमेठी में पीएम नरेंद्र मोदी ने जनसभा की. इस दौरान उन्होंने 540 करोड़ रुपए की योजनाओं की सौगात दी. उन्होंने नौ परियोजनाओं का लोकार्पण व आठ योजनाओं का शिलान्यास भी किया. इस दौरान उन्होंने ये भी एलान किया कि अमेठी की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में दुनिया की आधुनिक रायफल्स में से एक AK-203 बनाई जाएगी. ये रायफल लाखों की संख्या में यहां बनाई जाएगी. उन्होंने कहा कि हमने जो कहा वो करके दिखाया. उन्होंने कहा कि हम भले ही यहां (अमेठी) से चुनाव हारे, लेकिन हमने अपने कामों से आपके दिल जीते हैं. इस दौरान उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि अमेठी इस बार इतिहास रचेगी.


पीएम मोदी ने कहा कि अमेठी के लिए क्या-क्या कहा गया था लेकिन अमेठी की स्थिति क्या ये सब जानते हैं. अमेठी का विकास नहीं किया गया. किसानों की ज़मीन ले ली गई लेकिन फ़ैक्ट्री नहीं लगाई गई. इसी तरह से लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ किया गया. अमेठी के साथ यही हुआ है.


इसके साथ ही उन्होंने राफेल को फेल करने की कोशिश की गई. कुछ लोगों का काम बाधा डालना होता है. वीर जवानों के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट नहीं खरीदे पुरानी सरकार ने, लेकिन साढ़े चार साल में हमने ये कर दिखाया. पीएम मोदी रैली को संबोधित कर रहे हैं. इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी, राज्यपाल रामनाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं.

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अमेठी हमारे ‘सबका साथ, सबका विकास’ का सबसे अच्छा उदाहरण है, जिन्होंने हमें वोट दिया और जिन्होंने नहीं दिया, सभी हमारे हैं. दुनिया की सबसे आधुनिक राइफल एके-203 का अमेठी में निर्माण होगा. पहले जो सरकार थी उसने सुरक्षा बलों की सुरक्षा को नजरअंदाज करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी थी. अब यहां बनने वाली राइफल ‘मेड इन अमेठी’ के नाम से जानी जाएगी. एके-203 राइफलों से आतंकियों और नक्सलियों के साथ होने वाली मुठभेड़ों में हमारे सैनिकों को निश्चित रूप से बहुत बढ़त मिलने वाली है. यही लोग वर्षों तक राफेल विमानों के सौदे पर बैठे रहे और जब सरकार जाने की बारी आई तो उसको ठंडे बस्ते में डाल दिया.