नई दिल्ली: ओएलएक्स कई नई पुरानी चीज़ें बेचने के लिए एक प्लेटफ़ॉर्म है, लेकिन कुछ शातिर दिमाग लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का जनसंपर्क ऑफिस ही ओएलएक्स पर बेच डाला. पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) के ऑफिस की कीमत साढ़े सात करोड़ रुपए में बेचा. इस मामले में पुलिस ने चार लोगों को अरेस्ट किया है. इसमें मुख्य अभियुक्त पीएचडी होल्डर है, जिसे पुलिस ने पकड़ लिया है. Also Read - Tamil Nadu Election: राहुल ने तमिलनाडु में किया चुनाव अभियान का आगाज, पीएम मोदी पर साधा निशाना

दैनिक जागरण की खबर के अनुसार, मामला पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का है. वाराणसी के गुरुधाम कॉलोनी में पीएम मोदी का जनसंपर्क कार्यालय है. बताया जा रहा है कि वाराणसी के ही लक्ष्मी कान्त ओझा, मनोज यादव, बाबू लाल पटेल, और जीतेन्द्र शर्मा ने ओएलएक्स पर पीएम मोदी का ये कार्यालय बेचने के लिए विज्ञापन डाल दिया. कई लोग इसे खरीदने के लिए साइट पर विजिट करने लगे. आरोपियों ने ऑफिस की कीमत साढ़े सात करोड़ लगाई. भवन का स्पेस एरिया 6500 स्क्वायर फीट बताया गया. ऑफिस के चार फोटो भी पोस्ट किये गये. Also Read - PM Modi in Kolkata: कोलकाता में बोले पीएम मोदी- वैक्सीन से दुनिया के देशों की मदद कर रहा है भारत, ये देख बड़ा गर्व करते नेताजी बोस

इसका पता लगते ही पुलिस सक्रिय हो गई और छानबीन के बाद चार आरोपियों को अरेस्ट कर लिया, जिन्होंने ये विज्ञापन पोस्ट किया था. पुलिस ने बताया कि पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपियों की पकड़ा. मुख्य आरोपी पीएचडी होल्डर और टीचर है. इनके खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. Also Read - ब्राजील के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को वैक्सीन के लिए कहा धन्यवाद, शेयर की भगवान हनुमान की यह खास तस्वीर