मुजफ्फरनगर: उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) एक पोक्सो अदालत ने मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) के शुक्रताल इलाके में एक आश्रम में बच्चों के यौन शोषण के मामले में आश्रम स्वामी व एक शिष्य के खिलाफ शुक्रवार को आरोप तय किए. आरोपी महाराज और दास को जुलाई में गिरफ्तार किया गया था. Also Read - शादीशुदा शख्स का हुआ अपहरण, पुलिस ने ढूंढ़ा तो प्रेमिका संग कर रहा था...

विशेष न्यायाधीश संजीव कुमार तिवारी ने आश्रम स्वामी भक्ति भूषण गोविंद महाराज और उनके शिष्य कृष्ण मोहन दास के खिलाफ कानून की विभिन्न धाराओं के तहत आरोप तय किए. Also Read - मां ने डांटा तो 11 साल के बच्चे ने छोड़ा घर, साइकिल लेकर हरिद्वार को निकला, फिर...

अदालत ने महाराज के खिलाफ आईपीसी धाराएं 323, 377 और 504 तथा यौन अपराधों से बच्चों को संरक्षण (पोक्सो) कानून, किशोर न्याय अधिनियम, अनुसूचित जाति और जनजाति (अत्याचार रोकथाम) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत आरोप तय किए. Also Read - OMG! मंदिर में मिले 300 रुपये, बंटवारे को लेकर तीन लोगों ने की 24 साल के लड़के की हत्या...

मोहन दास के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और किशोर न्याय कानून के तहत आरोप तय किए गए हैं. अदालत ने अभियोजन पक्ष द्वारा साक्ष्य पेश करने के लिए 15 सितंबर की तारीख तय की है.

पोक्सो मामलों के विशेष वकील दिनेश शर्मा के अनुसार, पुलिस ने कानून की विभिन्न धाराओं के तहत आश्रम मालिक और उनके शिष्य के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था. आरोपी महाराज और दास को जुलाई में गिरफ्तार किया गया था.