नई दिल्लीः अपनी मांगों को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हुए हजारों की संख्या में किसानों को पुलिस ने उत्तर प्रदेश सीमा पर रोक दिया है, जिससे दिल्ली-उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय राजमार्ग 9 (24) पर भारी जाम लग गया है. दो घंटे से लगे जाम के कारण लोगों को गाजियाबाद से दिल्ली आने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारी पुलिस बल तैनात है.

कश्मीर: फोन नहीं कर रहे काम, ठप हैं सेवाएं फिर भी पहुंचा दिए गए बिल, लोग हैरान

एनएच-9 पर दिल्ली की तरफ आने वाले ट्रैफिक को बंद कर दिया गया है, जिसकी वजह से लोग वहां फंस गए हैं. किसान दिल्ली में प्रवेश करना चाह रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें ऐसा करने से रोक रही है. जानकारी के मुताबिक किसानों की 5 मांगें मान ली गई हैं. अपनी मांगों को लेकर दिल्ली आए किसानों की मुलाकात कृषि भवन में हो चुकी है. किसानों को आश्वासन दिया गया है कि उनकी मांगों पर विचार किया जाएगा.

डिजिटल पेमेंट वालों को RBI ने दी राहत, फेल ट्रांजेक्शन पर रिफंड में हुई देरी तो मिलेगा हर्जाना

इससे पहले भारतीय किसान संगठन के अध्‍यक्ष पूरन सिंह ने कहा था कि किसानों की मांगों के संबंध में 11 किसान प्रतिनिधि कृषि भवन में सरकारी अधिकारियों से बातचीत करने गए हैं. अगर हमारी मांगें मान ली जाती हैं तो हम दिल्‍ली-यूपी बॉर्डर से लौट जाएंगे, वरना हम दिल्‍ली कूच करेंगे. ऐसा माना जा रहा है कि किसानों कि तरफ से बातचीत के लिए गया 11 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल मुलाकात से संतुष्ट है और वह अपना आंदोलन खत्म कर सकते हैं.

भारतीय सुरक्षा बल और वैज्ञानिक किसी भी आतंकी चुनौती से निपटने में हैं सक्षम : राजनाथ

आपको बता दें कि यूपी के हजारों किसान कर्जमाफी और बकाया भुगतान समेत 12 सूत्रीय मांगों को लेकर दिल्‍ली के किसान घाट तक मार्च करने की जिद कर रहे थे. गाजियाबाद प्रशासन ने किसानों से कहा था कि उन्हें पैदल मार्च करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.