लखनऊ: समाजवादी पार्टी के विधायक और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के संस्थापक शिवपाल यादव ने गुरूवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा के विशेष सत्र में राज्य सरकार की तारीफ करते हुए कहा, ‘इस तरह का सत्र आयोजित करना बहुत ही एतिहासिक है.’ उन्होंने योगी सरकार द्वारा चलाई जा रही विकास योजनाओं की तारीफ करते हुए कहा कि सरकार द्वारा आयोजित ‘इन्वेस्टर्स समिट’ से प्रदेश की छवि बेहतर हुई है लेकिन प्रदेश में जितना निवेश होना चाहिए उतना अभी नहीं हुआ.

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी सहित समूचे विपक्ष ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर विधानसभा के 36 घंटे के विशेष सत्र का बहिष्कार किया था. कल रात कांग्रेस विधायक अदिति सिंह, गुरूवार दोपहर बसपा विधायक मो असलम रायनी और उसके बाद सपा सदस्य शिवपाल यादव बैठक में शामिल हुए.

यूपी में एनआरसी लागू करेगी योगी सरकार! भगाए जाएंगे अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिक

शिवपाल ने कहा, ‘विशेष सत्र के लिए सरकार को साधुवाद, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन आज भी दुनिया के लिए प्रासंगिक है. उनकी शिक्षा का अनुकरण ही उनकी श्रद्धांजली होगी.’ उन्होंने हालांकि कहा, ‘मैं प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था और बेराजगारी की ओर भी सरकार का ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं. इस वर्ष आयोजित इन्वेस्टर्स समिट के लिए सरकार को बधाई परन्तु जितने निवेश की अपेक्षा थी, उतना निवेश नही हुआ.

कुंभ के अवसर पर इतना वृहद वृक्षारोपण हुआ, हम इसकी सराहना करते हैं. उज्ज्वला योजना की हम सराहना करते हैं लेकिन सरकार से मेरी मांग है कि गैस सिलिंडर भरवाने के लिए अधिक से अधिक सब्सिडी की आवश्यकता है. गैस भरवाने में गरीबों को काफी परेशानी हो रही है. आज भी गरीबों को 100 रूपया प्रतिदिन कमाना मुश्किल हो रहा है. इसलिए ग्रामीणों को सब्सिडी दें.’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र नारेबाजी, 40 छात्रों पर मामला दर्ज

प्रदेश की कानून व्यवस्था पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘प्रदेश का नेतृत्व ईमानदार है. मुख्यमंत्री जनभावना का सम्मान करते हैं लेकिन पुलिस और प्रशासन में बैठे लोग जनभावनाओं का आदर नही करते हैं. प्रदेश के अनेक जिलों से शिकायतें आ रही है कि थानों और तहसीलों में बहुत भ्रष्टाचार हो रहा है. गरीबों को पुलिस द्वारा परेशान किया जा रहा है इसलिए पुलिस और प्रशासन पर पेंच कसने की जरूरत है.’ यादव ने गांधी जयंती पर आयोजित इस विशेष सत्र में महात्मा गांधी के आदर्शो पर चलने की अपील की और उनके सत्य और अंहिसा के मार्ग को अपनाने को कहा.