लखनऊ: इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीसीबी छात्रावास में छात्र नेता अच्युतानंद शुक्ला उर्फ सुमित की गोली मारकर हत्या कर दी गई. विश्वविद्यालय प्रशासन ने सख्ती बरतते हुए इस मामले में पांच अधिकारियों से जवाब तलब किया है. उधर, पुलिस ने मामले में तीन लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है. Also Read - बेटा और नौकरानी के साथ लखनऊ लौटी विकास दुबे की पत्नी, पुलिस ने की पुष्टि

Also Read - मीडिया पर भड़की गैंगस्‍टर की पत्‍नी ने कहा, हां, विकास ने गलत किया था और उसके साथ यही होना

  Also Read - मारे गए गैंगस्टर अमर दुबे का पिता अचानक 7 साल बाद जिंदा मिला, ये है मिस्‍ट्री

पुलिस सूत्रों ने बताया कि विश्वविद्यालय के पीसीबी छात्रावास में जन्मदिन की पार्टी के दौरान अच्युतानंद शुक्ला को गोली मारी गई. वारदात के बाद गंभीर हालत में उसे स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई. इलाहाबाद विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी चित्तरंजन कुमार के मुताबिक, “कुलपति के आदेश पर आज दोपहर 2 बजे रजिस्ट्रार ने विश्वविद्यालय के पांच अधिकारियों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा. उन्होंने बताया कि रजिस्ट्रार ने पीसीबी हास्टल के अधीक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. साथ ही रजिस्ट्रार ने छात्रावास के वार्डन, विश्वविद्यालय के चीफ प्राक्टर, मुख्य सुरक्षा अधिकारी और डीन (स्टूडेंट वेलफेयर) से घटना की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

वाराणसी: JHV मॉल में अज्ञात शख्स ने की गोलीबारी, यूनिवर्सिटी के दो छात्रों की मौत, दो गंभीर

पुलिस ने तीन के खिलाफ लिखी रिपोर्ट

अच्युतानंद शुक्ला (30 वर्ष) विभिन्न मामलों में वांछित था और उस पर 25,000 रुपये का ईनाम घोषित था. मृतक के रिश्तेदार अभिमन्यु शुक्ला की तहरीर पर आशुतोष त्रिपाठी, हरिकेश मिश्रा और सौरभ सिंह उर्फ प्रिंस के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. कर्नलगंज थाना के एक अधिकारी ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराकर उसे पैतृक गांव तरबगंज, जिला गोंडा भेज दिया गया है.