प्रयागराज: कुम्भ मेला क्षेत्र में शनिवार को एक साथ 10,000 से अधिक सफाई कर्मियों ने झाड़ू लगाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में प्रयागराज का नाम शामिल किया. इससे पूर्व एक साथ सबसे अधिक 503 शटल बसों की परेड और 7,000 से अधिक लोगों द्वारा हस्तलिपि चित्रकारी का रिकॉर्ड गिनीज बुक में दर्ज किया जा चुका है.

शनिवार को सुबह साढ़े नौ बजे एक साथ 10,000 से अधिक सफाई कर्मियों ने कुम्भ मेला क्षेत्र में लाल सड़क-1 सेक्टर-1, लाल सड़क-2, सेक्टर-2, संकटमोचन मार्ग अरैल, सेक्टर-7 कैलाशपुरी और संगम लोअर मार्ग पर तीन मिनट तक झाड़ू लगाकर यह कीर्तिमान स्थापित किया.


इस मौके पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक एसएन साबत, डीआईजी कुम्भ केपी सिंह, मेलाधिकारी विजय किरण आनंद, अपर निदेशक (स्वास्थ्य) एके पालीवाल, सीएमओ जीएस वाजपेयी ने भी झाड़ू लगाकर सफाईकर्मियों का उत्साहवर्धन किया. इस पूरे आयोजन की निगरानी गिनीज वर्ल्ड बुक के निर्णायक मंडल के प्रमुख ऋषिनाथ और उनकी पूरी टीम ने की.

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि कुम्भ 2019 देश-विदेश में स्वच्छ कुम्भ के रूप में विख्यात हुआ है. स्वयं प्रधानमंत्री ने कुम्भ मेले को स्वच्छ रखने में सहयोग करने वाले सफाईकर्मियों के पांव पखार कर उन्हें सम्मानित किया है. यह कोई साधारण चीज नहीं है. सफाईकर्मी ही इस कुम्भ के असली हीरो हैं. मेलाधिकारी विजय किरण आनन्द ने कहा कि मेला क्षेत्र को खुले में शौच से मुक्त रखने के साथ ही दुर्गन्ध मुक्त भी रखा गया है और सफाई व्यवस्था के लिए 20,000 कूड़ादान, 40 डिपर, 40 काम्पेटर और अत्याधुनिक तकनीको का प्रयोग किया गया.