लखनऊ: प्रयागराज में होने वाले कुंभ से पहले आतंकी हमले की साजिश की गुप्त सूचना (इनपुट) मिलने के बाद शनिवार को वहां एटीएस ने डेरा डाल दिया है. आईजी (यूपी एटीएस) असीम अरुण के मुताबिक, यूपी एटीएस ने पूर्व में आतंकियों के जो मॉड्यूल तोड़े थे, उनसे पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ कि आतंकी बड़े धार्मिक आयोजनों पर हमले की योजना बना रहे हैं. इसके बाद यूपी एटीएस ने कुंभ मेले में एनएसजी, यूपी पुलिस और दूसरी सुरक्षा एजेंसियों के साथ समन्वय बनाकर काम शुरू कर दिया है. Also Read - कश्मीर में बीजेपी नेता की हत्या, पिता और भाई को भी आतंकियों ने मारा

Also Read - BSP MLA राजू पाल मर्डर केस में पूर्व सांसद अतीक अहमद का भाई अशरफ गिरफ्तार, 1 लाख था इनाम

Kumbh Mela 2019 Date: जानिये कब से शुरू हो रहा है कुंभ मेला, किन तारीखों को होगा शाही स्नान, देखें पूरी लिस्ट Also Read - Coronavirus in Prayagraj: प्रयागराज में एक दिन में कोरोना से 23 लोग संक्रमित, कुल संख्या 252 पहुंची, जानें पूरी डिटेल

उन्होंने बताया कि एटीएस के ब्लैककैट कमांडो दस्ते ने प्रयागराज कुंभ मेले में मॉकड्रिल के साथ ही मोर्चा संभाल लिया है. पूर्व में यूपी एटीएस द्वारा पकड़े गए आतंकियों से इस बात का खुलासा भी हुआ था कि बड़े धार्मिक आयोजनों पर उनकी हमले की योजना है. आईजी ने कहा कि कुंभ मेले के दौरान एटीएस के प्रशिक्षित कमांडो पूरी तैयारी के साथ मेले की सुरक्षा में मुस्तैद रहेंगे.

कुंभ 2019 में आमंत्रित किए गए 192 देशों के प्रतिनिधि: योगी आदित्‍यनाथ

उन्होंने ने कहा कि एटीएस दो स्तरों पर काम कर रही है. पहला यह कि सुरक्षा ऐजेंसियों की मदद से इनपुट मिलने पर किसी भी आतंकी मंसूबे को पहले ही नेस्तनाबूद किया जा सके और दूसरा कि किसी आतंकी हमले की स्थिति में प्रशिक्षित एटीएस कमांडो त्वरित कार्रवाई के तहत ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए हर वक्त तैयार रहेंगे. प्रयागराज में 15 जनवरी से कुंभ मेला शुरू हो रहा है. इस मेले में देश और विदेश से 12 से 15 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है. ऐसे में मेले की सुरक्षा व्यवस्था सुरक्षा एजेंसियों और राज्य सरकार के लिए भी बड़ी चुनौती होगी.