लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन की तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो गईं हैं. अधिकारियों और शासन स्तर पर लगातार बैठकों का दौर जारी है. प्रधानमंत्री 28 जुलाई को ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में हिस्सा लेने लखनऊ तो आएंगे, लेकिन वह यहां रुकेंगे या नहीं, अभी इस पर संशय बना हुआ है. अधिकारी इसको लेकर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं. Also Read - Corona Virus: झूठ बोल रही हैं कनिका कपूर, घंटों भूखे-प्यासे रहकर देखभाल कर रहा है स्टाफ, डॉक्टर ने बताई सच्चाई

सुरक्षा को लेकर मुस्तैद एसपीजी
आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान (आईजीपी) में 28 व 29 जुलाई को प्रस्तावित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के दौरान समारोह स्थल पर प्रवेश के लिए प्रशासन छह रंगों के एंट्री पास जारी करेगा. स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की सलाह पर प्रवेश कार्ड को अलग-अलग रंगों के साथ जारी कर अतिथियों के अलग-अलग प्रवेश द्वार चिह्न्ति किए गए हैं. प्रधानमंत्री की सुरक्षा से जुड़े एसपीजी अफसरों ने बुधवार को जिला और पुलिस प्रशासन के अफसरों की बैठक में सुरक्षा का खाका तैयार किया. Also Read - Coronavirus: सीएम योगी ने लखनऊ समेत यूपी के ये 15 जिले 'लॉक डाउन' घोषित किए

पीएम मोदी ने कहा, भारत की अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत, मुद्रास्फीति रही दायरे में Also Read - Corona Positive कनिका कपूर के नखरों से परेशान हुआ हॉस्पिटल स्टाफ, खास सुविधाएं ना मिलने से हैं नाराज

प्रवेश के लिए लाल, पीले, भूरे, सफेद, आसमानी और गोल्डन कलर के मिलेंगे पास
लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के मुताबिक, प्रवेश के लिए लाल, पीले, भूरे, सफेद, आसमानी और गोल्डन कलर के पास तैयार कराए जाएंगे. इसमें आयोजन से जुड़े विभागीय अफसरों व कर्मियों को सफेद, जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मियों को आसमानी, मीडिया के लिए भूरे रंग के पास होंगे. विशिष्ट अतिथियों को गोल्डन कलर का कार्ड जारी कर इनका प्रवेश दो नंबर गेट से कराया जाएगा. इसके अलावा एयरपोर्ट से लेकर आयोजन स्थल के रूट पर सफाई व बिजली व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालने वाले अफ सरों को भी अलग रंग के पास जारी होंगे.

क्या है पीएम मोदी की गाय डिप्लोमेसी? भारत ने रवांडा को दी 200 गायें

लोहिया अस्पताल और एसजीपीजीआई में प्रधानमंत्री के लिए सेफ हाउस
जिलाधिकारी ने बताया कि कार्यक्रम स्थल के समीप स्थित लोहिया अस्पताल और एसजीपीजीआई में प्रधानमंत्री के लिए सेफ हाउस बनाया जाएगा. प्रधानमंत्री के आगमन के मद्देनजर एयरपोर्ट पर मेट्रो के अलावा, फ्लीट के रूट से सटे इलाकों में किसी भी तरह का कोई निर्माण कार्य नहीं होगा. अधिकारियों के मुताबिक 27 जुलाई को शाम पांच बजे तक सभी विभागों को व्यवस्था दुरुस्त होने प्रमाण पत्र देना होगा. नगर निगम, एलडीए, पीडब्ल्यूडी व अन्य विभागों को भी चिह्न्ति कार्यो को पूरा कराने की रिपोर्ट 27 जुलाई दोपहर तक देने के निर्देश दिए गए हैं.