बांदा: उत्तर प्रदेश में बांदा जिले की नगर कोतवाली क्षेत्र के मवई बुजुर्ग गांव के पास शनिवार की आधी रात में एक निजी बस ब्रेकर से उछल कर सड़क किनारे पलट गई, जिससे उसमें सवार एक श्रद्धालु की मौके पर ही मौत हो गई और 35 अन्य घायल हो गए. बस कानपुर देहात से चित्रकूट दीपदान मेला जा रही थी.

बांदा के पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने रविवार को बताया कि बस कानपुर देहात जिले के गजनेर थाना क्षेत्र से श्रद्धालुओं को भर कर दीपदान मेले में शामिल होने चित्रकूट जा रही थी. निजी बस शनिवार की रात करीब साढ़े बारह बजे मवई बुजुर्ग गांव के पास तेज गति होने की वजह से ब्रेकर से उछल कर सड़क किनारे गहरे खड्ड में पलट गई.

साहा ने बताया कि बस पर सवार 42 वर्षीय श्रद्धालु लोकेंद्र की मौके पर ही मौत हो गई और करीब 35 श्रद्धालु घायल हो गए. सभी घायलों को इलाज के लिए बांदा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें आठ-दस श्रद्धालुओं की हालत ज्यादा खराब है.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और बचाव-राहत दल के साथ वे मौके पर पहुंचे और गैस कटर से बस की छत कटवाकर कर श्रद्धालुओं को बस से बाहर निकलवाया. बस में अलग-अलग इलाके के करीब 60 से ज्यादा श्रद्धालु सवार थे. जिला चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. अभिषेक ने बताया कि श्रद्धालु लोकेंद्र को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था. बाकी करीब 30-35 घायलों का इलाज चल रहा है, इनमें आठ-दस घायलों को गंभीर चोटें आई हैं.

(इनपुट-भाषा)