वाराणसी: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को यहां कहा कि कांग्रेस पार्टी एक ऐसी लीगल सेल बनाएगी, जो सीएए के विरोध में देशभर में जेल जाने वालों को मुकदमा लड़ने में विधिक सहायता दे सके. प्रियंका वाराणसी में सीएए और एनआरसी विरोधी आंदोलन में भाग लेने वाले प्रदर्शनकारियों से भेंट कर रही थीं. प्रियंका ने कहा कि जो कानून हमारे लोकतंत्र और संविधान की मूल भावना को चुनौती देते नजर आते हैं, हमें सड़क पर उतर कर उनका विरोध करने से हिचकना नहीं चाहिए. कांग्रेस पार्टी छात्रों, किसानों, नौजवानों सहित समाज के सभी वर्गो के साथ खड़ी है. कांग्रेस पार्टी एक ऐसा लीगल सेल बनाएगी, जो सीएए के विरोध में देशभर में जेल जाने वालों को मुकदमा लड़ने में विधिक सहायता दे सके.

 

काशी हिंदू विवि में छात्रों और सिविल सोसायटी के सदस्यों से मुलाकात के दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि पुलिस ने सीएए का विरोध कर रहे छात्रों से दुर्व्यवहार किया है. पुलिस ने मासूम बच्चों पर गलत धाराएं लगाई हैं. पीड़ित बच्चे यूनिवर्सिटी के छात्र हैं न कि दंगाई हैं. ये छात्र शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे. मुझे इन बच्चों पर गर्व है. प्रियंका ने सीएए और एनआरसी को काला कानून बताया और इस काले कानून को खत्म करने की मांग की. उन्होंने सभी को भरोसा दिलाया कि कांग्रेस की सरकार आई तो ये दोनों कानून लागू नहीं होंगे. उन्होंने लोगों से आंदोलन की जानकारी ली और कहा कि बिना हिंसा गांधीवादी तरीके से विरोध होना चाहिए.

सीएए संविधान, लोकतंत्र विरोधी: प्रियंका गांधी वाड्रा
पंचगंगा घाट स्थित श्रीमठ में शुक्रवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में जेल जाने वालों के साथ उनकी पार्टी खड़ी है. कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी तो सभी के मुकदमे खत्म किए जाएंगे. इस बीच मुकदमे लड़ने में कंग्रेस पार्टी मदद करेगी. प्रियंका ने कहा कि “भाजपा सरकार द्वारा पारित किया गया सीएए संविधान, लोकतंत्र विरोधी है. एनआरसी का भी उद्देश्य देश के संविधान की मूल आत्मा के खिलाफ है. कांग्रेस पार्टी देश के लोकतंत्र और संविधान को मजबूती देने के लिए प्रतिबद्घ है.

प्रियंका ने काशी विश्वनाथ कारिडोर के कार्यो को देखा
प्रियंका गांधी ने संवाद के दौरान विशेष रूप से चंपक की मां एकता शेखर और पिता रवि शेखर से बातचीत की. उन्होंने दोनों की हौसला अफजाई भी की. इसके पहले काशी विश्वनाथ मंदिर जाते समय रास्ते में प्रियंका गांधी ने सुरक्षा घेरा तोड़कर महाराष्ट्र के तीर्थयात्रियों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं से हाथ भी मिलाया. विश्वनाथ मंदिर जाते समय प्रियंका ने काशी विश्वनाथ कारिडोर के कार्यो को देखा. इसके बाद वह वाराणसी हवाईअड्डे के लिए रवाना हो गईं. प्रियंका गांधी के साथ पूर्व मंत्री राजीव शुक्ला, पूर्व विधायक अजय राय और पूर्व सांसद राजेश मिश्रा सहित कांग्रेस के कई पदाधिकारी मौजूद रहे.