नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को लखनऊ में पहली बार कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग की. यह बैठक बुधवार सुबह साढ़े पांच बजे तक चली. मीटिंग में कांग्रेस के सीनियर नेता और पदाधिकारी शामिल हुए. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह मीटिंग मंगलवार दोपहर दो बजे शुरू हुई थी जो बुधवार सुबह 5 बजे तक चली. कांग्रेस के नेताओं का दावा है कि बिना लंच-डिनर के यह मीटिंग चलती रही. बताया जा रहा है कि आज 11 बजे वह दोबारा मीटिंग करेंगी.

इस मीटिंग में शामिल रहे एमएलसी दीपक सिंह ने ट्वीट किया, दिन न रात प्रियंका गांधी जी कार्यकर्ताओं के साथ. हमें गर्व है ऐसे नेता पर जो समय,नींद,भोजन की परवाह किए बिना रात के एक बजे के बाद भी कार्यकर्ताओ/नेताओं के साथ संवाद करने का सिलसिला जारी रखा है. लगता शुबह के 4 बजे तक चलेगा,और सुबह के 10’बजे फिर शुरू हो जाएगा,आपके हौसले को सलाम.

उन्होंने एक और ट्वीट किया, हम कांग्रेस जन सोच रहे थे प्रियंका गांधी जी 4 बजे तक कार्यकर्ताओं/नेताओं से संवाद करेंगी लेकिन शायद इसी का नाम प्रियंका गांधी है जो उम्मीद से ज्यादा सुबह के 5:30 तक लोगों से मिलती रहीं, किसी में नहीं ऐसा हौसला.हमें यकीन है उ.प्र. अब बेहाली से निकल खुशहाली की तरफ बढ़ेगा.

बैठक में प्रियंका ने सोशल मीडिया पर कार्यकर्ताओं की सक्रियता की जानकारी मांगी. उन्होंने कार्यकर्ताओं से वॉट्सऐप ग्रुप, ट्विटर और दूसरे सोशल मीडिया अकाउंट की डीटेल मांगी. बैठक में सभी कार्यकर्ताओं से फॉर्म भरवाया गया. प्रियंका गांधी ने हाल ही में ट्विटर पर एंट्री की है. उनके एक लाख 80 हजार से ज्यादा फोलॉअर्स हैं, लेकिन उन्होंने अब तक एक भी ट्वीट नहीं किया है.

‘ये सब चलता रहेगा’
बैठक के बाद मीडिया ने जब प्रियंका गांधी से उनके पति वाड्रा से ईडी की पूछताछ के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि ये सब चीजें चलती रहेंगी. मैं अपना काम करती रहूंगी. उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि ऑर्गनाइजेश के बारे में बहुत कुछ सीख रही हूं.जो भी जरूरी बदलाव होंगे किए जाएंगे. मैं कांग्रेस कार्यकर्ताओं से उनके विचार जान रही हूं कि उनके हिसाब से चुनाव कैसे लड़ा जाना चाहिए. बता दें कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के लिए नियुक्त दोनों प्रभारी महासचिवों प्रियंका गांधी वाड्रा और ज्योतिरादित्य सिंधिया को लोकसभा चुनाव के लिए मंगलवार को सीटों की संख्यावार जिम्मेदारी सौंपी.

41 सीटों की मिली है जिम्मेदारी
पार्टी ने महासचिव-प्रभारी (पूर्वी उत्तर प्रदेश) प्रियंका को उत्तर प्रदेश की कुल 41 लोकसभा सीटों और महासचिव-प्रभारी (पश्चिमी उत्तर प्रदेश) सिंधिया को 39 सीटों की जिम्मेदारी दी है. कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुतबिक पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन दोनों महासचिवों के लिए सीटों की संख्या के निर्धारण को स्वीकृति प्रदान की. प्रियंका को जिन सीटों की जिम्मेदारी सौंपी गई है उनमें अमेठी और रायबरेली के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ कही जाने वाली गोरखपुर सीट भी शामिल है.