नई दिल्ली/मुजफ्फरनगरः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जाकर संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के बाद पुलिस कार्रवाई से प्रभावित लोगों से शनिवार को मुलाकात की और कहा कि जहां भी अन्याय होगा वहां कांग्रेस खड़ी होगी. प्रियंका ने पहले एक स्थानीय मदरसे के मौलाना से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने कुछ अन्य पर प्रभावित लोगों से मिलते हुए रुकैया परवीन नामक उस युवती से मुलाकात की जिसकी जल्द ही शादी तय है. रुकैया के परिवार का आरोप है कि पुलिस उनके घर में घुसी और उसने तोड़फोड़ की एवं वह बहुत सारा समान ले गयी . Also Read - Coronavirus: UP में आज आए 37,238 नए केस, कल लखनऊ पहुंचेगी दूसरी Oxygen Special Train

प्रियंका ने इस लड़की का उल्लेख करते हुए कहा, ‘उसकी शादी होने वाली थी. पुलिस ने इसके घर में घुसकर समान तोड़फोड़ दिया. लड़की के सिर पर चोट लगी है.’ उन्होंने कहा, ‘जहां जहां अन्याय होगा वहां हम खड़े होंगे. हम हर संभव मदद करेंगे.’ कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘मैंने हाल ही में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल को चिट्ठी लिखी जिसमें कई मामलों का विवरण है. हमने उन्हें बताया कि पुलिस ने किस तरह लोगों को बेवजह मारा-पीटा है. ‘ Also Read - Uttar Pradesh: नगर पालिका प्रमुख की बर्थडे पार्टी में कोरोना नियमों की जमकर उड़ी धज्जियां, VIDEO वायरल हुआ तो...

उन्होंने कहा, ‘अगर किसी ने कुछ गलत किया है तो पुलिस कार्रवाई करे. इसमें किसी को कोई दिक्कत नहीं है लेकिन पुलिस घरों में घुसकर मारपीट कर रही है. पुलिस का काम न्याय दिलाना है, लेकिन यहां तो उलटा हुआ है.’ सूत्रों का कहना है कि मुजफ्फरनगर के बाद प्रियंका मेरठ भी जा सकती हैं. उन्हें और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को पिछले दिनों मेरठ जाने से रोक दिया गया था. प्रियंका ने इससे पहले बिजनौर में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान मारे गए दो युवकों के परिवारों से मुलाकात की थी.