लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शनिवार को मेरठ के अफसरों के विवादित बोल का वीडियो जारी करके भाजपा पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश में सांप्रदायिकता का जहर इस कदर घोला है कि अफसरों में संविधान की कसम की कोई कद्र ही नहीं है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, “भारत का संविधान किसी भी नागरिक के साथ इस भाषा के इस्तेमाल की इजाजत नहीं देता और जब आप अहम पद पर बैठे अधिकारी हैं तब तो जिम्मेदारी और बढ़ जाती है. भाजपा ने संस्थाओं में इस कदर सांप्रदायिकता का जहर घोला है कि आज अफसरों को संविधान की कसम की कोई कद्र ही नहीं है.

गौरतलब है कि नागरिकता संसोधन कानून (सीएए) को लेकर 20 दिसंबर को मेरठ शहर में हुए उपद्रव के बाद सोशल मीडिया पर एक अफसर का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह अटपटे बोल बोलते हुए दिख रहे हैं. वीडियो एक मिनट 43 सेकेंड का है. अफसर के हाथ में डंडा और हेलमेट है. प्रोटेक्टर जैकेट पहनकर गली में जाते दिखाई पड़ रहे हैं. वह मोबाइल से वीडियो बनाते हुए गली में वापस मुड़ते हैं. एक समुदाय के लोगों से कहते हैं कि जो हो रहा है, वह ठीक नहीं है.

CAA Protest: हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ योगी सरकार का बड़ा एक्शन, AMU के दस हजार छात्रों पर केस दर्ज

इस पर वहां खड़ा एक व्यक्ति कहता है कि जो लोग माहौल बिगाड़ रहे हैं, वे गलत हैं. इस पर अफसर कहते हैं कि उनको कह दो कि “वे दूसरे मुल्क चले जाएं. कोई गलत बात मंजूर नहीं होगी. इस दौरान उन्होंने कहा कि “यह गली मुझे याद हो गई है. जो एक बार याद कर लेता हूं तो उसे भूलता नहीं हूं. एक-एक आदमी को जेल भेज दूंगा. सुन लिया न.” इसके बाद वह फोर्स के साथ चले जाते हैं. (इनपुट एजेंसी)