नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राहुल गांधी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलने पर तंज कसा है. योगी ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा कि राहुल गांधी उनसे गले मिलने से पहले 10 बार सोचेंगे. योगी से जब पूछा गया कि अगर राहुल गांधी उनसे गले मिलना चाहेंगे, तो क्या वह उनसे गले मिलेंगे? उन्होंने इसे राजनीतिक स्टंट करार देते हुए कहा कि वह इस तरह से स्टंट स्वीकार नहीं करते. उन्होंने कहा, राहुल मुझसे गले मिलने से पहले 10 बार सोचेंगे, लेकिन राहुल क्यों 10 बार सोचेंगे, इस बारे में उन्होंने कुछ नहीं कहा.

संसद के बाद अब बलिया में ‘राजनीति की झप्पी’, PM मोदी-राहुल को ऐसे मिलवाया गले

दूसरों के विवेक से काम करते हैं राहुल
योगी ने न्यूज18 इंडिया से खास बातचीत में कहा, राहुल गांधी बचकानी हरकतें करते हैं. उनके पास अपनी बुद्धि और विवेक नहीं है. जब कोई दूसरे के विवेक और बुद्धि से काम करता है तो किसी भी प्रकार की हरकत कर सकता है. राहुल को विपक्षी गठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर योगी ने उलटा सवाल किया, क्या मायावती और अखिलेश राहुल गांधी को उम्मीदवार मानेंगे. क्या शरद पवार राहुल गांधी के कमान के अंडर काम करेंगे. विपक्षी गठजोड़ का नेता कौन है?

29 को लखनऊ में ‘ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी’ के बहाने जुटेंगे मंत्री, उद्योगपति, पीएम मोदी संग रहेंगे अंबानी-अडानी

मॉब लिन्चिंग को तूल दिया जा रहा है
देश में बढ़ती मॉब लिन्चिंग की घटनाओं पर भाजपा नेता ने कहा, भीड़ की हिंसा को तूल दिया जा रहा है. किसी भी हाल में गौ-तस्करी की इजाजत नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि उनके राज में नागरिकों और गाय दोनों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी. उन्होंने कहा, गौरक्षा के नाम पर हत्या और अराजकता की छूट किसी को नहीं है और न आगे होगी. इसको कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता. नागरिक की सुरक्षा होगी, तभी गाय की रक्षा भी होगी और गौरक्षा का सम्मान भी होगा.

यूपी में कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए सपा ने रखी ये शर्त, क्या मानेंगे राहुल गांधी?

इमारतें ढहने के लिए पिछली सरकार दोषी
गाजियाबाद और नोयडा में इमारतें ढहने की घटनाओं पर योगी ने कहा कि ये इमारतें कोई एक दिन में नहीं बनी हैं. पिछली सरकारों ने मनमानी करके ये समस्याएं पैदा की हैं. लोगों ने अपनी जीवनभर की कमाई दे दी, लेकिन पिछली सरकारों के कारण सब बरबाद हो गया. राज्य में जितने बेईमान और भ्रष्ट लोग थे, उन्होंने पिछली सरकारों के साथ मिलकर ये पाप किया है और इसी पाप का घड़ा भर रहा है. हमने सख्ती की है. सरकार की तरफ से अवैध इमारतों को गिराने का नोटिस भेजा गया है.”