नई दिल्ली/लखनऊ: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश प्रशासन पर दो आदिवासी महिलाओं को अवैध तरीके से हिरासत में रखने और उनके मौलिक अधिकारों के हनन का आरोप लगाते हुए उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी के स्थानीय नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि वे इस विषय को गंभीरता से उठाएं उनके बचाव के लिए संघर्ष करें.

हापुड़ लिंचिंग केस: सुप्रीम कोर्ट ने मेरठ आईजी को पूरी घटना की स्‍टेटस रिपोर्ट दो सप्‍ताह में देने को कहा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘अपने मौलिक वन अधिकार के लिए संघर्ष करने वाली, आदिवासी समाज की सुकारो और किस्मतिया को उत्तरप्रदेश में अवैध तरीके से हिरासत में रखे जाने से काफी चिंतित हूँ| ‘उन्होंने कहा, ‘मैं उत्तरप्रदेश में कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से ये आग्रह करता हूं कि वो इस विषय को वहां गंभीरता से उठाएं ‘

बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाने की मांग ने पकड़ा जोर, 250 लोगों ने कराया सामूहिक मुंडन

राहुल गांधी का ये बयान मीडिया में आई कुछ खबरों के बाद आया है जिनके मुताबिक, सोनभद्र जिले में वन अधिकार की लड़ाई लड़ने वाली दो आदिवासी महिलाओं सुकारो गोंड और किस्मतिया गोंड का पिछले दिनों से कुछ पता नहीं है. उन्हें पुलिस द्वारा अवैध तरीके से हिरासत में रखे जाने की भी खबरें प्रकाश में आई थीं लेकिन अभी तक उनके बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल सकी है कि वो कहां लापता हैं.