लखनऊ: मानसून के जोर पकड़ने से लगभग पूरा उत्तर प्रदेश बारिश से सराबोर है. वर्षा से जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली है, वहीं किसानों के चेहरे भी खिल गए हैं. आंचलिक मौसम केन्द्र की रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिमी मानसून पूरे प्रदेश खासकर पूर्वी हिस्सों में खासा सक्रिय हो चुका है. पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के अनेक हिस्सों में बारिश हुई. कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हुई.

इस दौरान बलिया राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा, जहां अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. अगले 24 घंटों के दौरान भी प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में बारिश होने का अनुमान है. यह सिलसिला अगले दो दिनों तक जारी रहने की संभावना है.

इस दौरान नीमसार में सबसे ज्यादा 22 सेंटीमीटर बारिश हुई. इसके अलावा मुहम्मदी और मिश्रिख में सात—सात सेंटीमीटर, घोरावल, काकरधारीघाट और मिर्जापुर में छह-छह सेमी, फुरसतगंज, राजघाट, ज्ञानपुर, छतनाग, दुद्धी, पलियाकलां, भिनगा और लखनऊ में चार-चार सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई.

इस बारिश से लोगों को भीषण उमस भरी गर्मी से राहत मिली है, वहीं, यह किसानों के लिए भी खुशी की वजह लेकर आई है.
किसान मोहम्मद सिराज ने बताया कि यह बारिश धान की फसल के लिए बेहद फायदेमंद है. वर्षा की वजह से खेतों में पानी भरने से अब धान की बोआई का सिलसिला तेजी पकड़ेगा.

यह बारिश पिपरमिंट और सब्जियों जैसी नकदी फसलों के लिए भी लाभदायक है. मानसूनी बारिश की वजह से पिछले 24 घंटों में कानपुर, लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, फैजाबाद और इलाहाबाद में दिन के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गयी. इसके अलावा लखनऊ, बरेली, कानपुर, झांसी और मुरादाबाद मंडलों में तापमान सामान्य से काफी नीचे रहा.