एटा: उत्तर प्रदेश के जिला एटा के राजेश कुमार यादव भारत-पाक सीमा पर शहीद हो गए हैं. वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िले में 57 आर-आर रेजीमेंट में तैनात थे. सीमा पर पाकिस्तान द्वारा सीजफायर का उलंघन कर की गई फायरिंग में गोली लगने से राजेश कुमार शहीद हो गए. राजेश का पार्थिव शरीर उनके गृहनगर लाया जा रहा है.

कुछ समय में है बहनों की शादी, पत्नी है गर्भवती
राजेश कुमार यादव एटा ज़िले के जलेसर इलाके के रजुआ गांव के रहने वाले थे. बताया जा रहा है कि वह एलओसी पर तैनात थे. इसी दौरान उन्हें गोली लगी. इससे वह शहीद हो गए. राजेश के घर जैसे ही शहादत की सूचना पहुंची घर में कोहराम मच गया. राजेश चार बहनों में इकलौते भाई थे. इनमें से दो बहनों की अभी शादी होनी थी. शादी 2019 में होनी थी, जिसमें राजेश आने वाले थे. राजेश की दो साल पहले ही शादी हुई थी. बताया जा रहा है कि उनकी पत्नी श्वेता इस समय गर्भवती हैं.

पिता बोले- देश के लिए शहीद हुआ घर का इकलौता चिराग
जैसे ही राजेश के शहीद होने की सूचना पहुंची, उनके घर में कोहराम मच गया. पूरे परिवार का बुरा हाल है. खासकर गर्भवती पत्नी श्वेता ये खबर पाकर बेसुध हो गई. खबर मिलते ही राजेश के घर लोग पहुंचने लगे. राजेश के पिता नेम सिंह यादव बताते हैं कि राजेश बेहद बहादुर था. वह देश के लिए शहीद हो गया. इन्होंने अपने घर के इकलौते चिराग को खो दिया है.