लखनऊ: केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने चंदौली के मुगलसराय से बीजेपी विधायक साधना सिंह द्वारा बसपा प्रमुख मायावती के प्रति अपमानजनक टिप्पणी की निंदा करते हुए रविवार को कहा कि ऐसी व्यक्तिगत आक्षेपपूर्ण बयानबाजी नहीं होनी चाहिए. अठावले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बारे में पूछे गए सवाल पर कहा कि भाजपा विधायक साधना सिंह ने बसपा अध्यक्ष मायावती के खिलाफ जो टिप्पणी की है, वह गैर जिम्मेदाराना, अमर्यादित और अवांछनीय है. Also Read - पश्चिम बंगाल में बोले जेपी नड्डा, बहुत जल्द लागू होगा नागरिकता संशोधन कानून

Also Read - Bihar Polls 2020: बिहार चुनाव में गठबंधन 4, लेकिन मुख्यमंत्री पद के हैं ये 6 दावेदार

VIDEO: बीजेपी MLA साधना सिंह ने मायावती को बताया किन्नर से भी बदतर, कहा- न महिला लगती हैं न पुरुष Also Read - पीएम नरेंद्र मोदी का बयान- 6 सालों में हुए चौतरफा काम, अब बढ़ा रहे हैं उसकी गति और दायरा

केंद्रीय मंत्री अठावले ने बीएसपी सुप्रीम मायावती पर बीजेपी एमएलए साधना सिंह की विवादित टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ”हमारी पार्टी बीजेपी के साथ है, लेकिन हम मायावती के खिलाफ ऐसी अपमानजनक टिप्पणी के साथ नहीं है. वह हमारे दलित समुदाय की एक मजबूत महिला और एक अच्छी प्रशासक है. अगर मेरी पार्टी में किसी ने ऐसा किया होता तो उसके खिलाफ जरूर कड़ा कदम उठाता.

अठावले ने कहा कि किसी राजनेता के बारे में राजनीतिक टिप्पणी तो की जा सकती है, लेकिन व्यक्तिगत नुक्ता चीनी से बाज़ आना चाहिए. मायावती दलितों की बड़ी नेता और अच्छी प्रशासक हैं और उनके प्रति अपमानजनक टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण है.

बता दें कि मुगलसराय क्षेत्र से भाजपा विधायक साधना सिंह ने चंदौली जिले के करणपुरा गांव में शनिवार को आयोजित किसान कुंभ कार्यक्रम में मायावती का ज़िक्र करते हुए कहा “हमको तो उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ना तो महिला लगती हैं और ना ही पुरुष. इन्हें तो अपना सम्मान ही समझ में नहीं आता. जिस महिला का इतना बड़ा चीर हरण हुआ हो, लेकिन कुर्सी पाने के लिए उसने अपने सारे सम्मान को बेच दिया. ऐसी महिला मायावती का हम इस कार्यक्रम के माध्यम से तिरस्कार करते हैं.”

विधायक साधना सिंह ने कहा, ”वह महिला नारी जात पर कलंक है. जिस महिला की आबरू को भाजपा के नेताओं ने लुटते-लुटते बचाया, उसी ने सुख-सुविधा के लिए अपने वर्चस्व को बचाने के लिए अपमान को पी लिया. ऐसी महिला तो किन्नर से भी ज्यादा बदतर है. वह ना नर है, ना महिला है, उसकी किस श्रेणी में गिनती करना है.