लखनऊ: उत्तर प्रदेश के रामपुर में 2008 में सीआरपीएफ कैम्प पर हुए आतंकी हमले में एक स्थानीय अदालत ने शुक्रवार को छह लोगों को दोषी करार दिया. एटीएस ने कहा कि एक नवंबर को अपर जिला न्यायाधीश—3, रामपुर की अदालत ने छह लोगों को विभिन्न धाराओं के तहत दोषी करार दिया. दोषियों के दंड की घोषणा कल, शनिवार को होगी.

उत्तर प्रदेश के आतंकवाद रोधी दस्ते ने यहां जारी एक बयान में यह जानकारी दी. कुछ आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के शिविर पर हमला किया था, जिसमें सात जवान शहीद हो गये थे जबकि एक असैन्य नागरिक की भी मौत हुई थी. हमले में कुछ जवान और नागरिक घायल भी हुए थे. आठ लोगों के खिलाफ इस सिलसिले में मामला दर्ज किया गया था. एटीएस ने कहा कि एक नवंबर को अपर जिला न्यायाधीश—3, रामपुर की अदालत ने छह लोगों को विभिन्न धाराओं के तहत दोषी करार दिया. दोषियों के दंड की घोषणा कल, शनिवार को होगी.

ये साबित हुए दोषी
दोषियों के नाम शरीफ (रामपुर), शाहबुददीन (मधुबनी, बिहार), इमरान (भिमहर, पाकिस्तानी कब्जे वाला कश्मीर), मुहम्मद फारूक (गुजरावाला, पाकिस्तान), बाबा (मुरादाबाद) और फहीम अरशद अंसारी (मुंबई) हैं.

इन्हें अदालत ने नहीं माना दोषी
एटीएस ने बताया कि प्रतापगढ़ के मुहम्मद कौसर और बरेली के गुलाब खान पर वारदात में इस्तेमाल हथियारों को छिपाने का आरोप था लेकिन अदालत ने उन्हें इस मामले में दोषी नहीं माना. (इनपुट एजेंसी)