नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश की घोसी सीट से बसपा के नव-निर्वाचित सांसद अतुल राय को बलात्कार के मामले में गिरफ्तारी से छूट देने से सोमवार को इनकार कर दिया. राय पर वाराणसी की एक छात्रा के बलात्कार का आरोप है.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस की अवकाश पीठ ने कहा कि वह राय को गिरफ्तारी से राहत देने वाली याचिका पर सुनवाई करने के पक्ष में नहीं हैं. इससे पहले भी शीर्ष अदालत राय को गिरफ्तारी से अंतरिम छूट देने से इनकार कर चुकी है. कॉलेज की छात्रा की शिकायत पर एक मई को राय के खिलाफ यह मामला दर्ज हुआ था. छात्रा ने आरोप लगाया है कि राय अपनी पत्नी से मिलवाने की बात कह कर उसे घर ले गए और वहां उसका यौन उत्पीड़न किया. राय के वकील का कहना है कि उत्तर प्रदेश में अग्रिम जमानत का कोई प्रावधान नहीं है, इसलिए हाईकोर्ट ने गिरफ्तारी से छूट का अनुरोध करने वाली राय की याचिका आठ मई को ठुकरा दी थी. अतुल राय ने हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में भाजपा के हरिनारायण को 1.22 लाख से अधिक वोटों से हराया है.