उत्तर प्रदेश के हाथरस बलात्कार और हत्या कांड के बाद भी राज्य में महिलाओं की स्थिति सुधरती नहीं दिख रही है. कुछ वैसा ही मामला राज्य के बुलंदशहर जिले से सामने आया है. बुलंदशहर की रहने वाली एक बलात्कार पीड़िता ने दिल्ली के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया. मृतका के पिता का आरोप है कि बलात्कार के आरोपी के एक रिश्तेदार और उसके दोस्तों ने पीड़िता को जला दिया था. वे उस पर समझौता करने के लिए दबाव बना रहे थे. Also Read - हाथरस मामला: पॉलीग्राफ, ब्रेन मैपिंग टेस्ट के लिए चार आरोपियों को गुजरात लेकर गई सीबीआई की टीम

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने कहा कि मृतका के पिता की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि बलात्कार का आरोपी पहले से ही जेल में है. उन्होंने कहा कि मामले में लापरवाही बरतने के लिए दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. इससे पहले पुलिस ने कहा था कि पीड़िता ने अवसाद के चलते आज सुबह खुद को आग लगा ली थी. Also Read - हाई कोर्ट का यूपी सरकार से सवाल, 'हाथरस के जिलाधिकारी को अब तक क्यों नहीं हटाया'

एसएसपी ने कहा कि महिला द्वारा 15 अगस्त को दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार गांव में आम के बगीचे की रखवाली करने आए एक व्यक्ति ने उसके साथ बलात्कार किया था. पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी को उसी दिन गिरफ्तार कर लिया गया था और वह जेल में है. Also Read - हाथरस कांड पर SC का फैसला-अभी केस ट्रायल यूपी में ही होगा, तुरंत ट्रांसफर की जरूरत नहीं

एसएसपी ने कहा कि आरोपी के रिश्तेदार और उसका एक दोस्त पीड़िता पर समझौता करने का दबाव बना रहे थे. उन्होंने कहा कि मंगलवार की सुबह लड़की संदिग्ध परिस्थितियों में जल गई. अधिकारी ने कहा कि लड़की को दिल्ली के एक अस्पताल में रेफर किया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

एसएसपी ने कहा कि मृतका के पिता ने एक लिखित शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि उनकी बेटी को जलाया गया है. अधिकारी ने कहा कि उन्होंने उप निरीक्षक विनयकांत गौतम और कांस्टेबल विक्रांत तोमर को लापरवाही के लिए निलंबित कर दिया.

(इनपुट- भाषा)